नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। उत्तर प्रदेश में भाजपा और सहयोगी दलों- अपना दल और निषाद पार्टी के बीच सीटों का बंटवारा लगभग तय हो गया है। अब तक की बातचीत के आधार पर अपना दल को 17 सीटें तक दी जा सकती हैं जिनमें से 15 तय हो चुकी हैं। निषाद पार्टी को 10-12 सीटें दिए जाने की बात है। इसके साथ एक सीट विधान परिषद में भी मिल सकती है। वैसे सीटों पर अंतिम निर्णय से पहले ही अपना दल अध्यक्ष अनुप्रिया पटेल और संजय निषाद ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ आकर बड़े बहुमत के साथ सरकार बनाने का दावा कर दिया।

सहयोगी दलों के साथ लंबी बैठक

बुधवार को नड्डा, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की मौजूदगी में अपना दल और निषाद पार्टी के साथ लंबी बैठक हुई। सीटों के बंटवारे को लेकर चर्चा शुरू हुई तो विधान परिषद और सरकार बनने की दशा में मंत्रियों के कोटे तक पर विचार मंथन शुरू हो गया। सहयोगी दल हर मुद्दे पर अभी से स्थिति स्पष्ट करना चाहते थे। बहरहाल आखिरी निर्णय नहीं पाया, लेकिन अगले एक-दो दिन में कर लिया जाएगा।

सहयोगियों को मिल सकती हैं इतनी सीटें

सूत्रों के अनुसार, अपना दल की ओर से कम से कम 20 सीटों की मांग की गई थी लेकिन संभवत: उसे 17 तक सीमित कर लिया जाएगा। सरकार बनने की स्थिति और अपना दल विधायकों की संख्या के आधार पर दो मंत्री पद की भी मांग की गई। अभी कोई निर्णय नहीं हुआ है, लेकिन इस पर बातचीत का आश्वासन है। निषाद पार्टी के अध्यक्ष 15 सीटें चाहते थे, लेकिन उन्हें अधिकतम 12 सीटों से संतोष करना पड़ सकता है।

नड्डा ने गिनाई उपलब्धियां

बहरहाल, बुधवार को लंबी बैठक इसलिए चली क्योंकि सभी असमंजस खत्म करना चाहते थे। बैठक के बाद सामूहिक फोटो हुआ और उसके बाद नड्डा के साथ दोनों दलों के नेताओं ने आकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री योगी के कामकाज की प्रशंसा की और फिर से सरकार बनने का दावा किया। नड्डा ने गरीब कल्याण से लेकर इंफ्रास्ट्रक्चर विकास और माफिया राज के खात्मे की बात गिनाई।

विकास में लगाई एक छलांग

भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि भाजपा उत्तर प्रदेश में अपने साथियों के साथ चुनाव में उतर रही है। लोकसभा चुनाव में भी हम सब साथ उतरे थे और 2022 के विधानसभा चुनाव में भी अपना दल और निषाद पार्टी के साथ मिलकर भाजपा उत्तर प्रदेश में सभी 403 सीटों पर उतरेंगे। उत्तर प्रदेश में डबल इंजन की सरकार ने प्रदेश के विकास में एक नई छलांग लगाई है और प्रदेश के विकास को गति दी है। कनेक्टिविटी के क्षेत्र में पिछले पांच वर्षों में मोदी जी के आशीर्वाद से योगी जी के द्वारा बहुत काम किया गया है।

पलायन पर लगी रोक 

भाजपा अध्‍यक्ष जेपी नड्डा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में पांच साल पहले पलायन हो रहा था, गुंडागर्दी हो रही थी, अपहरण हो रहे थे, सरकार के सहयोग से माफिया पनप रहे थे। भाजपा सरकार के पिछले पांच साल की सरकार में ये सभी अराजक चीजें समाप्त हो गई हैं। आज उत्तर प्रदेश में कानून का राज है। इसके साथ ही भाजपा अध्‍यक्ष ने उत्तर प्रदेश में फिर एक बार, एनडीए 300 पार… का नारा भी दिया। भाजपा अध्‍यक्ष ने कहा कि हमारी सोच इमानदार और काम दमदार है। हमनें जो कहा था उसे पूरा किया।

शाह बोले- प्रचंड बहुमत से बनाएंगे सरकार

चार-पांच दिनों से लगातार बैठक कर रहे अमित शाह ने भी ट्वीट कर विश्वास जताया कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में प्रचंड बहुमत से राजग सरकार बनने जा रही है। अनुप्रिया ने ओबीसी कमीशन को संवैधानिक दर्जा दिए जाने, क्रीमी लेयर की आय सीमा बढ़ाने, मेडिकल में आरक्षण देने जैसे कदमों की याद दिलाते हुए कहा कि मोदी सरकार ने ओबीसी और दलितों के हितों की रक्षा की है।

विकास और सामाजिक न्‍याय के बीच का अलायंस

अनुप्रिया पटेल ने कहा कि मेरा यह मानना है कि भाजपा के साथ अपना दल और निषाद पार्टी का यह गठबंधन विकास और सामाजिक न्‍याय के बीच का अलायंस है। एनडीए का यह गठबंधन विकास और सामाजिक न्‍याय के बीच का एक काकटेल साबित हुआ है। उत्‍तर प्रदेश को दोनों की विकास और सामाजिक न्‍याय दोनों की जरूरत है। उत्‍तर प्रदेश में डबल इंजन की सरकार ने काफी विकास किया है। वहीं विपक्षी दलों ने ओबीसी के लिए कुछ नहीं किया केवल राजनीति की।

इस बार भी दोहराएंगे जीत

निषाद पार्टी के अध्‍यक्ष संजय निषाद ने कहा कि वह 2019 में भाजपा के साथ आए थे और जीत मिली थी, इस बार जीत दोहराएंगे। मैं भारतीय जनता पार्टी को धन्‍यवाद दूंगा कि उन्‍होंने मत्‍स्‍य मंत्रालय को अलग किया और गरीबी की मार झेल रहे मछुआरा समाज के लिए मुफ्त बीमा की सहूलियत दी। यह पहली बार हुआ है कि मत्‍स्‍य मंत्रालय की ओर से मछुआरों के कल्‍याण के लिए 20 हजार करोड़ रुपए जारी किए जा चुके हैं। विपक्ष को यूपी की जनता की कोई चिंता नहीं है।  

Edited By: Krishna Bihari Singh