गोंडा, जेएनएन। बरौनी मेल बर्निंग ट्रेन बनने से बाल-बाल बच गई। ट्रेन के कोच से उठ रहे धुंए एवं चिन्गारी को देखकर यात्री सकते में आ गए। कन्ट्रोल रूम की सूचना पर ट्रेन को बभनान में खड़ी किया गया। जिस कोच से चिंगारी निकल रही थी, उसे अलग कर लगभग तीन घंटे बाद ट्रेन को गन्तव्य की ओर रवाना किया गया।

गोरखपुर-गोंडा रेल खंड पर स्थित बभनान रेलवे स्टेशन बस्ती-गोंडा जिले की सीमा पर है। गत सोमवार की रात एक बजकर बयालिस मिनट पर ग्वालियर से बरौनी जा रही (11124) डाउन बरौनी मेल बभनान रेलवे स्टेशन पर खड़ी हुई। कन्ट्रोल रूम द्वारा स्टेशन मास्टर बभनान को सूचना दी गई कि ट्रेन में तकनीकी दिक्कत आ गई है। स्टेशन मास्टर बभनान रंजीत कुमार,चालक व गार्ड द्वारा ट्रेन का निरीक्षण किया गया तो पता चला कि कोच संख्या (13337) एस 2 में पहिया जाम हो गया है जिससे तेज धुंआ एवं चिंगारी निकल रही थी। 

एस 2 कोच के सभी पहिये जाम थे 

ट्रेन को आगे पीछे करने का प्रयास किया गया लेकिन एस 2 कोच के सभी पहिए जाम थे। लगभग तीन घंटे की मेहनत के बाद चपेट में आए कोच को ट्रेन से अलग किया गया। पांच बजकर पन्द्रह मिनट पर ट्रेन को गोरखपुर की ओर रवाना किया गया। इस बारे में जनसम्पर्क अधिकारी रेल मण्डल लखनऊ आलोक कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि यह सामान्य घटना है। हाट एक्सिल में ट्रेन खड़ी हुई थी। कोच को अलग करने के बाद ट्रेन को गन्तव्य की ओर रवाना कर दिया गया। किसी प्रकार की जनहानि नहीं हुई है

 

Posted By: Anurag Gupta

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप