लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में बलिया गोलीकांड के मुख्य आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह के समर्थन में आए बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह ने पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से लखनऊ में रविवार शाम मुलाकात कर सफाई पेश की है। स्वतंत्र देव सिंह ने उनसे बलिया प्रकरण पर अनर्गल बयानबाजी नहीं देने की सख्त हिदायत दी है। उन्होंने बीजेपी विधायक से मुलाकात के दौरान पार्टी और अपनी छवि न बिगड़ने देने पर जोर दिया। प्रदेश अध्यक्ष का कहना है कि किसी भी कार्यकर्ता को अपनी बात पार्टी में कहने का हक है।

बलिया प्रकरण पर विवादित बयानों को लेकर भारतीय जनता पार्टी नेतृत्व विधायक सुरेंद्र सिंह पर सख्ती का मन बना रहा है। रविवार को शाम करीब साढ़े छह बजे लखनऊ में पार्टी मुख्यालय अपना पक्ष रखने पहुंचे सुरेंद्र सिंह को प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और महामंत्री संगठन सुनील बंसल ने अनर्गल बयानबाजी न करने की हिदायत दी। लगभग पौन घंटा चली वार्ता में सुरेंद्र ने पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। उनका कहना था कि वहां के हालात ही इस तरह बने थे कि दुर्भाग्यपूर्ण घटना घट गई।

सूत्रों के अनुसार सुरेंद्र सिंह के स्पष्टीकरण से प्रदेश भाजपा नेतृत्व संतुष्ट नहीं है। उनका कहना है कि आए दिन बयानों से किसी न किसी विवाद को बढ़ाने का दोहरा नुकसान होता है। पार्टी की छवि खराब होने के अलावा व्यक्तिगत नुकसान भी विवादों से होता है।

यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह का कहना था कि भारतीय जनता पार्टी संस्कार और सिद्धांतों वाली पार्टी है। यदि जिम्मेदार कार्यकर्ता या जनप्रतिनिधि मीडिया के सामने बयानों से विवाद उत्पन्न करता है तो जनता भी उसे गंभीरता से नहीं लेती। विपक्ष को बेवजह मुद्दा मिल जाता है। महामंत्री संगठन सुनील बंसल का कहना था कि पार्टी को संस्कारवान कार्यकर्ताओं की पार्टी कहा जाता है। विवादित बयानों व कार्यों से आम कार्यकर्ता का मनोबल भी कमजोर होता है। वरिष्ठ नेताओं को अपनी वाणी और आचरण को बहुत संयमित रखना चाहिए।

बैरिया के विधायक सुरेंद्र सिंह ने तर्कपूर्ण तरीके से अपना पक्ष रखने की कोशिश की। उनका कहना था कि आम कार्यकर्ता की समस्याओं को भी सुना जाए ताकि स्थानीय स्तर का वास्तविक फीड बैक मिल सके। उन्होंने कहा कि उनकी मंशा पार्टी को नुकसान की कभी नहीं रही। वार्ता के बाद सुरेंद्र सिंह ने मीडिया से कहा कि उन्होंने नेतृत्व के सामने अपना पक्ष प्रस्तुत कर दिया है।

सुरेंद्र सिंह ने यूपी बीजेपी के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह से मुलाकात के बाद कहा कि धीरेंद्र प्रताप सिंह के पक्ष के लोगों का मेडिकल प्रधानमंत्री कार्यालय और मुख्यमंत्री कार्यालय में भेज कर निष्पक्ष जांच की मांग की है। स्वतंत्र देव सिंह से मुलाकात के दौरान घटनाक्रम के बारे में उनको पूरी जानकारी दे दी है। इस प्रकरण को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से भी समय मिलने पर मुलाकात करूंगा।

बता दें कि बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह पर आरोप है कि उन्होंने बलिया कांड के आरोपित धीरेंद्र सिंह के पक्ष में परिवार के साथ जाकर पुलिस से मुलाकात की थी। सुरेंद्र सिंह परिवार वालों के साथ रोए भी थे, जिसका वीडियो वायरल हुआ था। इसके बाद बीजेपी पर खुलकर आरोपित का साथ देने का आरोप भी लग रहा है।

बीजेपी विधायक सुरेंद्र सिंह 17 अक्टूबर को रेवती थाने में दूसरे पक्ष के खिलाफ शिकायत दर्ज कराने पहुंचे थे। सुरेंद्र सिंह ने कहा था कि अगर दूसरे पक्ष के खिलाफ केस दर्ज नहीं होगा तो वह धरने पर बैठ जाएंगे। बैरिया विधायक सुरेंद्र सिंह के बेटे ने भी योगी सरकार को चेतावनी दे दी थी कि अब बर्दाश्त के बाहर हो रहा है। मजबूर होकर सड़क पर उतरेंगे।

बता दें कि बलिया गोलीकांड का मुख्य आरोपित धीरेंद्र प्रताप सिंह को लखनऊ में गिरफ्तार किया गया है। यूपी एसटीएफ को रविवार सुबह यह कामयाबी मिली। धीरेंद्र वारदात के बाद से ही फरार चल रहा था। यूपी पुलिस ने सभी आरोपितों पर इनाम बढ़ाकर 50-50 हजार रुपये कर दिया था। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस