लखनऊ (जेएनएन)। भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर आजम खा के पास बुद्धि होती तो वह सुप्रीम कोर्ट द्वारा बार-बार फटकारे नहीं जाते। योगी ने कहा कि प्रदेश में अगर ऐसी ही तुष्टीकरण की सरकारें रहीं तो पश्चिमी उत्तर प्रदेश को कश्मीर बनने से कोई रोक नहीं सकता। उन्होंने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में पलायन रोकने और पशु वधशाला बंद करने के भाजपा के वादे दोहराए।

यह भी पढ़ें-UP Assembly Election: किसानों का एक लाख तक कर्ज माफ करेगी बसपा

भाजपा मुख्यालय पर पत्रकारों से बातचीत में योगी ने बसपा-सपा के 14 वर्षों के कुशासन पर जमकर हमला बोला। कहा, उप्र में अराजकता का माहौल है। घोषणा पत्र में किये गये वादों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि जनसंख्या का असंतुलन एक बड़ी सच्चाई है। जिस तरह पश्चिमी उत्तर प्रदेश में राज्य सरकार के नाकारापन के चलते पलायन हो रहा है उससे बड़ी चुनौती उत्पन्न हुई है। आजम खान द्वारा अपने ऊपर की गयी टिप्पणी के सवाल पर योगी ने पलटवार किया। कहा कि वह प्रदेश सरकार के मंत्री पद पर बैठकर अशोभनीय बात करते हैं। उनके बयान निंदनीय हैं। तीन तलाक पर योगी ने कहा कि उत्तर प्रदेश में 22 करोड़ की आबादी है और यहां एक बड़ी संख्या तीन तलाक के चलते किस स्थिति में जी रही है, यह छिपा नहीं है। महिला सशक्तीकरण की बात करते हैं तो हमें हर तबके की बात करनी होगी। इसीलिए सरकार बनने पर भाजपा मुस्लिम महिलाओं की रायशुमारी कर सुप्रीम कोर्ट में पक्ष रखेगी। लव जेहाद का मुद्दा इस बार छोड़ देने पर योगी ने कहा कि भाजपा ने जनता से जुड़े हर मुद्दे उठाये हैं। योगी ने कहा कि हम लोगों की सरकार को सांप्रदायिक कहा जाता है लेकिन 14 वर्षों में जिन लोगों ने जाति-धर्म को आधार बनाकर योजना बनाई उन्हें सेकुलर कहा जाता है। योगी ने कहा कि अयोध्या, मथुरा और काशी पवित्र स्थल हैं। अयोध्या में जो कुछ हुआ है उसे रामभक्तों ने किया है और आगे भी जो होगा उसे राम भक्त करेंगे।

यह भी पढ़ें- Election: असंतोष दबाने के लिए भाजपा की महत्व बढ़ाओ रणनीति

सीएम से हर दिन एक सवाल पूछेंगे योगी

योगी ने कहा कि मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने नाकामी छिपाने के लिए घरेलू कलह का ड्रामा किया। असल में उनकी सरकार कुछ माफिया के हाथों का खिलौना बनकर रह गयी। इस सरकार ने कानून-व्यवस्था के साथ खिलवाड़ किया है। उन्होंने पूछा कि गायत्री प्रसाद प्रजापति और सीएम के लोगों ने तीस जिलों में अवैध खनन कर करोड़ों की राजस्व क्षति की लेकिन, सीएम ने गायत्री को मंत्रिमंडल में रखा और उन्हें प्रत्याशी क्यों बनाया? कहा कि अगर सीएम ने विकास कार्य कराये हैं तो कार्य बोलते हुए दिखना चाहिए।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप