लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। PMJAY, Ayushman Card: उत्तर प्रदेश में अब प्रधानमंत्री जन आरोग्य आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थियों का दायरा और बढ़ जाएगा। अंत्योदय कार्ड धारक परिवारों को अब साल में पांच लाख तक का मुफ्त इलाज कराने की सुविधा होगी। अंत्योदय परिवारों को इस योजना का लाभ देने की घोषणा पहले ही की जा चुकी है। अब 40 लाख अंत्योदय परिवारों के 1.30 करोड़ लाभार्थियों का डाटा आनलाइन किया जा रहा है।

23 सितंबर, गुरुवार को आयुष्मान योजना को उत्तर प्रदेश में लागू हुए तीन साल पूरे हो जाएंगे। ऐसे में इन नए लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू कर इस योजना का लाभ देना शुरू किया जाएगा। पहले वर्ष 2011 की सामाजिक-आर्थिक जनगणना के आधार पर 1.26 करोड़ गरीब परिवारों के 6.30 करोड़ लाभार्थी पहले से शामिल हैं। ऐसे में अब कुल लाभार्थियों की संख्या 7.30 करोड़ हो गई है।

उत्तर प्रदेश में अब तक 1.52 करोड़ लाभार्थियों के आयुष्मान कार्ड ही बने हैं। यानी 20 प्रतिशत लाभार्थी के पास ही आयुष्मान कार्ड है। अब विशेष अभियान चलाकर कार्ड बनाए जाने का काम किया जा रहा है। स्टेट एजेंसी फार कांप्रिहैंसिव हेल्थ एंड इंटीग्रेटेड सर्विसेज (साचीज) की सीईओ संगीता सिंह के मुताबिक अंत्योदय कार्ड धारक परिवार के सभी सदस्यों को इसका लाभ जल्द मिलना शुरू हो होगा। डाटा आनलाइन करने का काम लगभग पूरा हो गया है, गुरुवार से कार्ड बनाने की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी। अब इन परिवारों के लोगों को भी एक वर्ष में पांच लाख रुपये तक के मुफ्त इलाज की सुविधा दी जाएगी।

बता दें कि योगी सरकार ने अब आयुष्मान भारत योजना और मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से वंचित प्रदेश के 40 लाख अंत्योदय कार्डधारक परिवारों को भी मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना में शामिल कर उसका लाभ देने का फैसला किया है। सरकार के इस फैसले का लाभ प्रदेश के 1.26 करोड़ लोगों को मिलेगा। इस फैसले को अमली जामा पहनाने के लिए 102 करोड़ रुपये का व्यायभार अनुमानित है।

Edited By: Umesh Tiwari