अयोध्या [प्रवीण तिवारी]। Ayodhya News: रामभक्त जल्द ही श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट के जरिए भी मंदिर निर्माण के लिए दान कर सकेंगे। इस नई व्यवस्था की तैयारी में ट्रस्ट व भारतीय स्टेट बैंक जुटा है। इसके लिए ट्रस्ट की वेबसाइट में पेमेंट गेटवे लगाया जाएगा। इसके बाद पलक झपकते ही भक्त ट्रस्ट के खाते में दान की रकम भेज सकेंगे। अभी तक मंदिर निर्माण के लिए ऑनलाइन दान तो किया जा रहा है लेकिन इसके लिए दानदाता को सीधे ट्रस्ट के खाते को अपने खाते से लिंक करना पड़ता था या फिर बैंक के लिंक पर जाकर भुगतान की प्रकिया पूरी करनी होती थी। इस बदलाव से रामभक्तों को और सहूलियत मिल जाएगी। इसमें कोडिंग की इंट्री से फुर्सत होगी। 

पेमेंट गेटवे लगाने के लिए श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट की गुणवत्ता तथा इसकी सुरक्षा के फीचर को मानक पर परखा जा रहा है। बैंक इस वेबसाइट की ऑडिट करा रहा है। यह कार्य पूरा होते ही वेबसाइट को गेटवे से जोड़ दिया जाएगा। दरअसल अभी ट्रस्ट की वेबसाइट सामान्य वेबसाइट की तरह कार्य कर रही है। ट्रस्ट के एक सदस्य ने बताया कि वेबसाइट में गेटवे लगा कर इसके माध्यम से भुगतान का विकल्प दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पेमेंट गेटवे से भुगतान सुविधापूर्ण और सरल है। इन दिनों बड़े पैमाने पर ऑनलाइन ट्रांजेक्शन को देखते हुए गेटवे से दान करने की सुविधा देने का फैसला लिया गया।

क्या है पेमेंट गेटवे? 

पेमेंट गेटवे एक ई कामर्स सॉफ्टवेयर है। ऑनलाइन व्यापारियों, ई व्यवसायों, या इलेक्ट्रॉनिक व्यवसाय के लिए यह उपयोगी है। पेमेंट गेटवे व्यापारियों और ग्राहकों के बीच तीसरा पक्ष होता है, जो भुगतान व्यापारियों के खाते में भेजता है। यही व्यवस्था श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की वेबसाइट में लागू होगी। ये ई-कॉमर्स से भिन्न होगी। इसमें सिर्फ दान की राशि खाते में स्थानांतरित हो सकेगी।

इस तरह भेजी जा सकेगी धनराशि

दूसरे पक्ष के खाते में भुगतान का सरल तरीका है पेमेंट गेटवे है। आप इसकी वेबसाइट पर जाएंगे, जितनी भी राशि भेजनी है, उसे अंकित करेंगे। पेमेंट की जानकारी भी दर्ज करेंगे। इसके कुछ देर बाद पेमेंट हो जाएगा। इसकी सूचना भी आपको मैसेज से मिल जाएगी। 

 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस