लखनऊ, जेएनएन। बालागंज कैंपवेल रोड निवासी डा. शाहिद की 10 साल की बेटी जोया खान का 26 मई को अपहरण का प्रयास एक युवक ने किया। इसके बाद भी युवक उनके घर के आस पास के चक्कर काट रहा था। बेटी की सुरक्षा की गुहार और आरोपित के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर डा. चार दिन तक ठाकुरगंज थाने के चक्कर काटते रहें पर पुलिस टरकाती रही। रविवार को उच्चाधिकारियों के आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ।

वहीं, एसीपी चौक आइपी सिंह ने बच्ची के पिता से मुलाकात कर उनकी बेटी की सुरक्षा की हर संभव मदद का आश्वासन दिया। जानकारी के मुताबिक कैम्पवेल रोड अमन विहार निवासी डा. शाहिद की बेटी जोया खान बीते 26 मई को घर के पास में स्थित दुकान से कुछ सामान लेने गई थी। इस बीच उसे एक युवक मिला उसने चाकलेट दिलाने का झांसा देकर पहले बच्ची को अपने साथ ले जाने की कोशिश की। बच्ची के मना करने पर वह उसे उठाकर ले जाने लगा। बच्ची के शोर मचाने पर आस पड़ोस के लोग दौड़े तो वह भाग निकला।

बच्ची के जानकारी देने पर डा. शाहिद ने दुकान के पास लगे सीसी कैमरे की पड़ताल की तो उसमें संदिग्ध युवक की फुटेज दिखी। वह मास्क लगाए था। फुटेज और तहरीर लेकर कार्यवाही की मांग को लेकर डा. ठाकुरगंज थाने पहुंचे। वहां तहरीर दी। आरोप है कि पुलिस ने उन्हें टकरा दिया। इसके बाद तीन दिन तक थाने के चक्कर काटते रहे। रविवार को उच्चाधिकारियों को मामले की जानकारी दी। इसके बाद उनके आदेश पर मुकदमा दर्ज हुआ। इसके बाद पीड़ित एसीपी चौक आइपी सिंह के पास पहुंचा। आइपी सिंह ने पीड़ित डा. को बच्ची की सुरक्षा के मद्देनजर आश्वासन दिया।

Edited By: Anurag Gupta