लखनऊ। नोएडा के मामूरा गांव से मारपीट के मामले में पकड़े गए मेरठ के युवक की पुलिस हिरासत में संदिग्ध हालत में मौत से गुस्साए परिजनों ने आज पुलिस के खिलाफ मामूरा तिराहे पर जाम लगा कर प्रदर्शन किया। आगजनी और पथराव करती भीड़ को खदेडऩे के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। परिजन पुलिस पर हत्या का आरोप लगा रहे हैं, जबकि पुलिस का कहना है कि पीसीआर से कूदने के दौरान चोट लगी और होटल संचालक की मौत हुई है। फिलहाल दो पुलिसकर्मी सहित तीन लोगों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया गया है। मामला कोतवाली फेज तीन क्षेत्र का है।

गांव दबथवा, सरधना मेरठ निवासी विनोद कुमार मामूरा गांव की गली नंबर तीन स्थित एक मकान में परिवार के साथ किराये पर कमरा लेकर रहते थे। उनका मामूरा में ही होटल है। परिवार में पत्नी मंजू और दो छोटे बच्चे हैं। पत्नी मंजू का आरोप है कि बृहस्पतिवार रात मामूरा स्थित मकान में रहने वाले सुनील शर्मा से विनोद का किसी बात को लेकर विवाद हो गया था। देर रात पीसीआर 28 से कांस्टेबल गोपाल कुमार और दीपक राठी पहुंचे और विनोद और सुनील शर्मा को कोतवाली ले गए। मंजू का आरोप है कि देर रात वह पति की जानकारी लेने कोतवाली पहुंची तो विनोद नहीं मिले। पुलिस उन्हें घंटो गुमराह करती रही। काफी देर तक इंतजार करने के बाद वहां दोनों पुलिसकर्मी और सुनील पहुंचे और बताया कि विनोद दिल्ली के जीबीटी अस्पताल में भर्ती है। कारण पूछने पर बताया गया कि उन्हें सिर में चोट लग गई है, जबकि पीडि़ता का आरोप है कि पुलिस कांस्टेबल उन्हें सुरक्षित ले गए थे। दिल्ली स्थित अस्पताल पहुंचने पर पता लगा कि विनोद की मौत हो चुकी है। पीडि़ता ने कहा कि पुलिसकर्मी गोपल कुमार, दीपक राठी के अलावा सुनील शर्मा ने मिलकर मारपीट कर हत्या की है। पुलिस ने तीनों के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पीसीआर से कूद गया था विनोद

पुलिस के अनुसार रात मारपीट के आरोप में हिरासत में लिए गए विनोद ने शराब पी रखी थी। पुलिसकर्मी, विनोद और सुनील शर्मा को पीसीआर में पीछे बैठाकर जिला अस्पताल में मेडिकल के लिए ले जा रहे थे। इस दौरान एक पुलिसकर्मी जीप चला रहा था, जबकि एक आगे बैठा हुआ था। सेक्टर 57 चौराहे के पास अचानक विनोद गाड़ी से कूद गया। इससे सिर में चोट लग गई और उसे जिला अस्पताल और फिर दिल्ली के जीटीबी अस्पताल में रेफर किया गया था। जहां उसकी मौत हुई है। एसपी सिटी दिनेश यादव ने कहा कि मारपीट के मामले में विनोद और सुनील शर्मा को हिरासत में लिया गया था। विनोद को पीसीआर से अचानक कूदने की वजह से चोट लगी और इलाज के दौरान जीटीबी अस्पताल में मौत हुई है। परिजन ने हत्या का आरोप लगाया है। दोनों पुलिसकर्मी सहित तीन पर हत्या का केस दर्ज कर लिया है। दोनो पुलिसकर्मी सस्पेंड कर दिए गए हैं। जांच चल रही है।

Posted By: Nawal Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप