लखनऊ (वेब डेस्क)। कश्मीर के उड़ी में ब्रिगेड मुख्यालय के पास आतंकी हमले को पूर्व जनरल वीके सिंह बेहद गंभीर मामला मानते हैं। विदेश राज्यमंत्री वीके सिंह का मानना है कि अब सेना तुरंत कुछ एक्शन लेने के स्थान पर ठंडे दिमाग से खामियों की जांच करें।

केंद्रीय मंत्री एवं पूर्व सेना प्रमुख वीके सिंह ने खामियों की जांच की जरूरत बताई जिसके चलते उड़ी में सेना के शिविर पर हमला हुआ।

गणेश शंकर यादव के साथ कश्मीर में यूपी के चार जवान शहीद

इसके साथ ही उनकी सलाह है कि भारतीय सेना उपयुक्त योजना के साथ 'ठंडे दिमाग से' जवाब देने पर निर्णय करे। विदेश राज्यमंत्री ने कहा कि सेना को काफी नजदीक से देखे होने के कारण मेरा मानना है कि यह विश्लेषण करने की जरूरत है कि वहां क्या हुआ।जांच करने की जरूरत है कि कैसे घटना हुई और क्या खामियां रहीं।

गणेश के शहीद होने की सूचना पर रो पड़ा संतकबीर नगर

वीके सिंह ने कहा कि सेना की तरफ से सतर्क रहने की जरूरत है। अब कश्मीर की स्थिति पर सोचने की जरूरत है। अब भावनाओं, गुस्से से प्रभावित हुए बगैर कार्रवाई करने की जरूरत है. इसे शांत तरीके से और उपयुक्त योजना के साथ करना होगा।

चार भाइयों में इकलौता कमाऊ सदस्य था बलिया का शहीद राजेश

उन्होंने यह भी कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह व वित्त मंत्री अरूण जेटली ने की जाने वाली कार्रवाई पर बात की है। उन्होंने कहा कि हमें इसे कार्रवाई को सरकार पर छोड़ देना होगा। उड़ी आतंकवादी हमले की निंदा करते हुए पीएम मोदी ने कल कहा था कि 'घिनौने' कृत्य में जिनका भी हाथ है उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। इस आतंकी हमले में 17 सैनिक शहीद हो गए थे।

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप