अमेठी, जेएनएन।  कुछ अरसा पहले तक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री आदित्यनाथ की तारीफ करती रहीं पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के सुर बदल गए हैं। रविवार को अमेठी के तिलोई विधानसभा क्षेत्र में सभा करते हुए उन्होंने 'अखिलेश भैया' को प्रचंड बहुमत दिलाने की अपील कर डाली। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार महंगाई, कानून व्यवस्था, कोरोना महामारी और कृषि कानून सहित हर मोर्चे पर पूरी तरह से फेल साबित हुई है। इसका जवाब जनता आगामी विधानसभा चुनाव में लेगी। सियासी गलियारों में उनके बदले सुर के निहितार्थ तलाशे जा रहे हैं। लोग इसे सैफेई परिवार में जारी एका की कोशिशों का प्रतिफल मान रहे हैं।

मलिक मोहम्मद जायसी शोध संस्थान में सभा को संबोधित करते हुए अपर्णा यादव ने कहा कि यह चुनाव का समय है, इसलिए वह चुनावी बातें ही करेंगी। वह बाबू जी मुलायम सिंह यादव के निर्देश पर सपा को मजबूत करने निकली हैं, क्योंकि जनता अब भाजपा सरकार से ऊब चुकी है। इस सरकार में महिलाएं सुरक्षित नहीं हैं। कानून व्यवस्था चरमरा गई है। महंगाई बढ़ती जा रही है। उन्होंने कहा हमने तिलोई विधानसभा क्षेत्र में देखा कि सड़कें बदहाल हैं। स्वास्थ्य व शिक्षा व्यवस्था ध्वस्त है। सूफी संत जायसी की धरती भी विकास की बाट जोह रही है। सपा सरकार बनते ही तिलोई विधानसभा क्षेत्र के विकास को प्राथमिकता मिलेगी।

जनता चाहती है हम यहां से चुनाव लड़ें : अपर्णा यादव ने तिलोई विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ने के सवाल पर कहा कि जनता चाहती है कि हम यहां से चुनाव लड़ें, लेकिन सपा हाईकमान अखिलेश भैया जैसा आदेश देंगे वही करूंगी। उन्होंने कहा कि बंगाल में जिस तरह ममता दीदी को प्रचंड बहुमत मिला है, उसी तरह जनता यूपी में अखिलेश भैया को भी प्रचंड बहुमत दिलाएगी।

अपर्णा ने अहोरवा मंदिर में टेका मत्था : अपर्णा यादव के दौरे से चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। लोग अपने-अपने ढंग से सियासी कयास लगाने में जुटे रहे। जायस में आयोजित कार्यक्रम में शिरकत करने जा रही अपर्णा का इन्हौना में पार्टी कार्यकर्ताओं ने स्वागत किया। इसके पश्चात उनका काफिला अहोरवा भवानी मंदिर पहुंचा। जहां उन्होंने मां अहोरवा की पूजा अर्चना कर चुनरी चढ़ाई। इसके पश्चात वे पार्टी कार्यकर्ता राहुल अवस्थी के घर जाकर परिवार के लोगों से मुलाकात की।

Edited By: Umesh Tiwari