लखनऊ (जेएनएन)। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बाद अब उनकी छोटी बहू अपर्णा यादव भी शिवपाल सिंह यादव के मंच पर आ गई हैं। शिवपाल सिंह यादव के समाजवादी सेक्युलर मोर्चा का गठन के बाद पहली बार उनके साथ मंच पर आईं अपर्णा यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा को मजबूत बनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि और आगे बढ़े समाजवादी सेक्युलर मोर्चा ।

शिवपाल सिंह यादव लखनऊ में राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के एक कार्यक्रम में मुख्य अतिथि थे। अपर्णा यादव इसी कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि पधारीं थीं। विश्वेश्वरैया सभागार में आज उनके साथ मंच पर मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव भी थीं। अपर्णा यादव से समाजवादी पार्टी के टिकट पर लखनऊ के कैंट क्षेत्र से विधानसभा का चुनाव लड़ा था। उत्तर प्रदेश की सियासत में हलचलें तेज हैं। सपा संरक्षक मुलायम सिंह यादव के बाद उनकी छोटी बहू अपर्णा यादव आज समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के संयोजक शिवपाल सिंह यादव के साथ मंच पर थीं।

राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के स्थापना दिवस के कार्यक्रम में चाचा शिवपाल सिंह यादव के मंच पर बैठीं अपर्णा यादव ने चाचा के अभियान को जमकर सराहा। उन्होंने कहा कि मैं चाहती हूं कि सेक्युलर मोर्चा आगे बढ़े। माननीय चाचा जी हमारे चहेते नेता हैं। समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव भी चाचा शिवपाल सिंह यादव के साथ हैं। उन्होंने कहा कि नेताजी के बाद चाचाजी ही मेरे चहेते नेता हैं। यह पूछे जाने पर कि क्या आप समाजवादी सेक्युलर मोर्चा में आ रही हैं तो उन्होंने कहा कि चाचाजी जैसा कहेंगे, वैसा करूंगी।

राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के स्थापना दिवस समारोह में शिवपाल के साथ अपर्णा यादव भी पहुंचीं। इस दौरान अपने संबोधन के दौरान अपर्णा यादव ने समाजवादी सेक्युलर मोर्चा को मजबूत करने के साथ सरकार पर भी निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आज किसान और नौजवान सभी परेशान हैं। परिवर्तन लाकर ही इनकी दशा सुधारी जा सकती है। एकजुट होकर ही इसके लिए ताकत हासिल की जा सकती है। समाज सेविका के रूप में पहचान रखने वाली अपर्णा यादव मुलायम के दूसरे बेटे प्रतीक यादव की पत्नी हैं। समाजवादी सेक्युलर मोर्चा के अध्यक्ष शिवपाल ने इस अवसर पर कहा कि हम मोर्चा को मजबूत करने में जुटे हैं। हमें किसान, नौजवान, मुसलमान और मेहनत करने वालों के लिए लडऩा है और परिवर्तन लाना है। समाजवादी चिंतक सभा के अध्यक्ष दीपक मिश्र ने उन्हें लोकबंधु की उपमा दी।

नेताजी के बाद मैंने इन्हीं को सबसे ज्यादा माना है। मैं चाहती हूं कि सेक्युलर मोर्चा आगे बढे। उन्होंने आमजन से अपील करते हुए कहा कि चुनाव में अच्छे लोगों को चुनकर लाइए। उन्होंने कहा कि आज भारत में किसान मर रहा है, जवान मर रहा है। अगर हमें अपने बेटों को ऐसे ही शहीद करना है तो इससे अच्छा है कि खड़ा करके उनको गोली मार दें।

अपर्णा यादव समाजवादी पार्टी के टिकट पर लखनऊ कैंट से विधानसभा का चुनाव लड़ चुकी हैं। मुलायम सिंह यादव ने विधानसभा चुनाव में सिर्फ शिवपाल सिंह यादव, अपर्णा यादव तथा पारसनाथ यादव के लिए चुनाव प्रचार किया था। जिसमें शिवपाल सिंह यादव ने इटावा के जसवंतनगर तथा पारसनाथ यादव ने जौनपुर के मल्हनी से जीत दर्ज की थी।  

24 छोटी पार्टियां एक मंच पर

राष्ट्रीय क्रांतिकारी समाजवादी पार्टी के 15वें स्थापना दिवस पर 24 छोटी पार्टियां एक साथ मंच पर नजर आईं। राक्रांसपा के अध्यक्ष गोपाल राय ने सभी से चुनाव में एकजुट होने की अपील की। उन्होंने कहा कि देश की अन्य पार्टियों को एकजुट किया जा रहा है और 80 से अधिक पार्टियां मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ेंगी। समारोह में मोर्चा के वरिष्ठ नेता सीपी राय भी उपस्थित रहे।

Posted By: Dharmendra Pandey