अंबेडकरनगर, जेएनएन। चालान होने के बाद मौरंग लदे ट्रेलर ने एआरटीओ के वाहन को रगड़ते हुए सड़क किनारे खड़ी गाड़ियों एवं एक महिला व युवक को कुचल दिया। घायल युवक शनि की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गई। इससे गुस्साए लोगों ने ट्रेलर का पीछा कर यहां पहुंचे एआरटीओ बीडी मिश्र व उनके चालक हवलदार गोस्वामी को पीट दिया। जिलाधिकारी सैमुअल पॉल एन और पुलिस अधीक्षक आलोक प्रियदर्शी ने घटना स्थल का जायजा लिया। डीएम ने भीड़ के अलावा हादसा करने वाले वाहन चालक के खिलाफ सख्त कार्रवाई का निर्देश दिया है। इस हादसे को डीएम ने हिट एंड रन का मामला बताया है।

जलालपुर तहसील के इलाके में चेकिंग के दौरान एआरटीओ बीडी मिश्र ने उक्त ट्रेलर पर मौरंग ओवरलोड लदा पाया। इसका चालान कर एआरटीओ निकले तो हाईवे पर ट्रेलर चालक ने उनके सरकारी वाहन को दाहिनी ओर से टक्कर मारी और रगड़ते हुए भागने लगा। एआरटीओ ने उसका पीछा कर उच्चाधिकारियों और इलाकाई पुलिस को भी सूचित किया। चालक ने एआरटीओ को पीछे आते देख रफ्तार बढ़ा दी और ट्रक अनियंत्रित होकर पट्टी चौराहे के निकट सड़क किनारे खड़े वाहन तथा एक युवक व महिला को कुचलते हुए दुकान में घुस गया। यहां जलालपुर थाने के मुरवाह गांव का युवक विद्यासागर गुप्त उर्फ शनि चप्पल की मरम्मत करा रहा था। ट्रेलर ने इसे कुचल दिया और एक महिला भी घायल हो गई। ट्रेलर के नीचे से शनि को निकालकर जिला अस्पताल भेजा गया। कुछ ही देर बाद उसकी मौत हो गई।

घटना होने के बाद पीछे से पहुंचे एआरटीओ ने जैसे ही वाहन रोका तो भीड़ ने उन्हें घेर लिया। उग्र भीड़ को देख परिवहन विभाग का सिपाही राज किशोर यादव भाग निकला। हादसे की वजह एआरटीओ के पीछा करने को मानकर भीड़ ने उन्हें और उनके चालक को जमकर पीटा। उनकी जीप पर पथराव करने के बाद उसे आग के हवाले कर दिया। परिवहन विभाग के चालक हवलदार गोस्वामी पिटाई से गंभीर रूप से घायल हुए हैं। जलालपुर पुलिस ने एआरटीओ और उनके चालक को सुरक्षित थाने पहुंचाया। जलालपुर कोतवाली प्रभारी बृजेश मिश्र ने बताया कि हादसे के बाद चालक भाग निकला। ट्रेलर को कब्जे में लिया गया है।

हमलावर भीड़ पर दर्ज होगा मुकदमा : हादसा करने वाले ट्रेलर चालक के अलावा एआरटीओ एवं उनके चालक समेत सरकारी वाहन को जलाने वाली भीड़ पर भी मुकदमा दर्ज किया होगा। डीएम व एसपी ने कहा कि आरोपितों को चिन्हित कर गिरफ्तार किया जाएगा।

मिलेगी आर्थिक मदद : डीएम ने स्पष्ट किया कि यह हादसा जरूर है, लेकिन इसमें हिट एंड रन का केस बनता है। सरकार की तरफ से पांच लाख रुपये मृतक के परिवारजन को दिया जाएगा। परिवहन विभाग से भी मदद दिलाएंगे।

20 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग: युवक की मौत से ग्रामीणों में काफी आक्रोश है। जनप्रतिनिधियों ने भी पीड़ित परिवार के घर पहुंचकर संवेदना जताई। सपा के जिला उपाध्यक्ष डा. अभिषेक सिंह ने इसके लिए परिवहन विभाग को दोषी बताते हुए मृतक के परिवारजन को 20 लाख रुपये मुआवजा दिलाने की मांग की है।

 

Edited By: Anurag Gupta