लखनऊ, जेएनएन। पहले कानपुर और फिर लखनऊ के सम्मेलन में भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने अपने बूथ अध्यक्षों का हौसला बढ़ाया और कांग्रेस, सपा-बसपा पर जमकर बरसे। कहा, गठबंधन वाले मोदी का विकल्प नहीं बन सकते क्योंकि उन लोगों की नीयत में ही लूट, भ्रष्टाचार, जातिवाद, परिवारवाद और बेईमानी है। शाह ने कहा 'श्रीराम जन्मभूमि पर भव्य राम मंदिर जल्द से जल्द से बने इसके लिए भाजपा कटिबद्ध है। मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार ने श्रीराम जन्मभूमि न्यास समिति की 42 एकड़ जमीन वापस देने का जो फैसला किया है, वह ऐतिहासिक है। हमने सुप्रीम कोर्ट को चिटठी भेज दी है। जब भी केस चलता है, राहुल बाबा के वकील कोर्ट में केस नहीं चलने देते। केस चलता है तो महाभियोग लाते हैं।

बुधवार को राजधानी के कांशीराम स्मृति उपवन में अवध क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन में अमित शाह ने कहा कि कांग्रेस को राम मंदिर पर बोलने का अधिकार नहीं है। कांग्रेस के चलते ही यह देश का सबसे वृद्ध मुकदमा हो गया है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी खून की दलाली का आरोप लगाते हैं लेकिन, क्या कभी किसी शहीद की विधवा से मिले हैं, उसके बच्चे के सिर पर हाथ फेरा है। कहा, हम अवैध घुसपैठियों की पहचान के लिए एनआरसी लेकर आए लेकिन, सपा, बसपा तृणमूल समेत पूरी की पूरी राहुल गांधी एंड कंपनी घुसपैठियों के समर्थन में उतर आई। कहा, पहले तो अमेरिका और इजराइल ही बदला लेते थे लेकिन, मोदी के चलते भारत तीसरा बदला लेने वाला देश बन गया है।

मोदी ने पाकिस्तान के दांत खट्टे कर दिए। उरी का बदला ले लिया। उन्होंने गठबंधन को मात देकर 74 सीटें जीतने के लिए हर बूथ पर 50 प्रतिशत से अधिक मत हासिल करने का मंत्र दिया। कहा कि 2014 में लखनऊ से ही होकर दिल्ली का रास्ता गुजरा था और इस बार भी यहीं से गुजरेगा और मोदी फिर पीएम बनेंगे। कार्यक्रम में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री एवं उप्र प्रभारी जेपी नड्डा और उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य समेत कई मंत्री, अवध क्षेत्र के सांसद, विधायक और प्रमुख नेता मौजूद थे। सम्मेलन का संचालन भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष जेपीएस राठौर ने किया। कार्यक्रम को सह प्रभारी गोवद्र्धन झड़पिया, क्षेत्रीय अध्यक्ष सुरेश तिवारी ने भी संबोधित किया। सम्मेलन स्थल से संबंधित बूथ अध्यक्ष शिवबालक ने अमित शाह का स्वागत किया।

महागठबंधन के फोर 'बी' में बुआ, भतीजा, भाई और बहन

इसके पहले कानपुर-बुंदेलखंड के सम्मेलन में शाह ने कहा कि भाजपा का फोर बी 'बढ़ता भारत-बनता भारत' है लेकिन, तथाकथित महागठबंधन के पास फोर बी में 'बुआ, भतीजा, भाई और बहन' हैं। सपा-बसपा गठबंधन पर तंज कसते हुए अमित शाह ने कहा कि उप्र ने सपा-बसपा के परिवारवाद और जातिवाद को बहुत भुगत लिया। उन्होंने कहा कि बुआ-भतीजा तो भाजपा के कार्यकर्ताओं की ताकत से डरकर एक हो गये हैं। यह चुनाव एक बार जिताकर दिखा दो तो उप्र में न तो बुआ दिखेंगी और न ही बबुआ रहेंगे। कहा कि महागठबंधन को ऐसी सरकार चाहिए जिसे डीलर चलाएं, लेकिन देश की जनता को लीडर वाली सरकार चाहिए। यह मोदी के नेतृत्व में ही संभव है। उन्होंने कहा कि सवा सौ साल से कानपुर में नाले की गंदगी मां गंगा के निर्मल जल को प्रदूषित कर रही थी। हमने यह नाला बंद किया। आज मां गंगा के निर्मल जल में कुंभ स्नान हो रहा है।

टू जी के बाद अब प्रियंका थ्री जी

अमित शाह ने कांग्रेस पर खूब हमले किए। कहा, यूपीए की सरकार में दो जी थे- सोनिया जी और राहुल जी। तब 12 लाख करोड़ रुपये का टू जी घोटाला हुआ। अब प्रियंका थ्री-जी आ गई हैं तो सोचिये कितना बड़ा घपला होगा।

मोदी-योगी की सराहना का मंत्र

अमित शाह ने बूथ अध्यक्षों को मोदी-योगी सरकार की सराहना के मंत्र दिए। खूब आंकड़े गिनाए। बोले कि देश की अर्थव्यवस्था नवें पायदान पर थी लेकिन, उसे मोदी ने छठवें नंबर पर ला दिया। योगी सरकार के पहले गुंडों से पुलिस डरती थी लेकिन, अब गुंडे खुद ही जेल में जाना पसंद करते हैं।

फिर परचम लहराएगी भाजपा : योगी

सम्मेलन को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2014 और 2017 की तरह ही भाजपा फिर अपना परचम लहराएगी। इस देश में सांस्कृतिक राष्ट्रवाद, विकास और सुशासन की नींव भाजपा सरकार ने ही रखी है। एक बार फिर मोदी के नेतृत्व और अमित शाह के रणनीतिक कौशल से प्रचंड बहुमत की सरकार बनेगी। उन्होंने कुंभ के आयोजन और अपनी सरकार द्वारा कराए जा रहे विकास कार्यों के लिए मोदी-शाह को श्रेय दिया।

सपा-बसपा नेताओं के पास ही क्यों जाती सीबीआइ : डॉ. महेंद्र नाथ

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ. महेंद्र नाथ पांडेय ने सपा, बसपा और कांग्रेस के भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाते हुए सवाल उठाया कि आखिर सीबीआइ इन्हीं तीनों के पास क्यों जाती है। भाजपा नेताओं के यहां सीबीआइ छापे क्यों नहीं पड़ते। कहा, भ्रष्टाचारी, लूट-खसोट वाली बसपा-सपा सरकार ने उप्र को विकास की दौड़ में पीछे कर दिया। उन्होंने कहा कि यह कितनी विडंबना है कि ममता बनर्जी की रैली में 23 दल जुटे और उसमें 13 प्रधानमंत्री पद के दावेदार थे।

उनके पास दल, हमारे पास देवतुल्य कार्यकर्ता : डॉ. दिनेश शर्मा

उप मुख्यमंत्री डॉ. दिनेश शर्मा ने कहा कि उनके पास दलों का जमावड़ा है और हमारे पास देवतुल्य कार्यकर्ता हैं। भाजपा सरकार ने हर वर्ग के लिए काम किया है इसीलिए 27 दल हम लोगों के खिलाफ हो गये हैं। उन्होंने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस एक ही हैं और कांग्रेस को सिर्फ भाजपा का वोट काटने के लिए खड़ा किया गया है।

Posted By: Anurag Gupta

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस