लखनऊ (जेएनएन)। राज्यसभा सदस्य अमर सिंह ने बुधवार को राज्यपाल व मुख्यमंत्री से मुलाकात कर सपा नेता मो. आजम खां की शिकायत कर कार्रवाई की मांग की। उन्होंने दोनों को शिकायती पत्र के साथ आजम खां के एक टीवी चैनल को दिए गए इंटरव्यू की सीडी व पेन ड्राइव में वे फुटेज भी दी जिससे उन्हें आपत्ति थी। अमर सिंह अब गुरुवार को रामपुर जाएंगे और वहां प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। 

अमर सिंह ने मंगलवार को एक पत्रकार वार्ता कर मो. आजम खां की एक फुटेज मीडिया को दी थी। इसी के बाद बुधवार की शाम अमर सिंह ने राज्यपाल राम नाईक से मुलाकात कर उन्हें भी फुटेज की सीडी व पेन ड्राइव सौंपा। उन्होंने कहा कि मैं एक डरा हुआ बाप हूं जिसकी नाबालिग बेटियों को तेजाब से जलाने की बात आजम खां कर रहे हैं। राज्यपाल से कार्रवाई करने की मांग की है। वहीं, राज्यपाल ने भी उनके शिकायती पत्र को उचित कार्रवाई के लिए सरकार के पास भेजने की बात कही। 

इसके बाद अमर सिंह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मिलने उनके सरकारी आवास पांच कालिदास मार्ग पहुंचे। उन्होंने मुख्यमंत्री को भी पत्र के साथ सीडी व पेन ड्राइव सौंपकर आजम खां के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। अमर करीब आधा घंटा मुख्यमंत्री आवास पर रहे। अमर सिंह ने बताया कि वे गुरुवार को रामपुर जा रहे हैं, वहां आजम से कहेंगे कि ...मेरी बलि ले लो, लेकिन मेरी बेटियों को बख्श दो।अमर सिंह ने बताया कि मैंने राज्यपाल व मुख्यमंत्री को सीडी व पेन ड्राइव सौंप दी है। कहा कि मैंने तो एक डरे हुए पिता की तरह गुहार लगाई है। अब देखना है कि उत्तर प्रदेश का शासन किस तरह से आजम खां के खिलाफ कार्रवाई करता है।    

तीन उपचुनाव जीतने से बढ़ गया है मन

अमर ने कहा कि तीन उपचुनाव जीतने के बाद सपा नेताओं का मन बहुत बढ़ गया है। इसलिए आज वे बच्चियों को तेजाब से जलाने की बात कर रहे हैं। अखिलेश जो मुझे अंकल कहते हैं यदि वे रक्षाबंधन के दिन अपनी बहनों की रक्षा के लिए एक वचन बोल देते, या फिर मुलायम सिंह जिनसे हमारी मित्रता रही है यदि वह आजम के खिलाफ एक बयान दे देते तो मुझे आज राजभवन आने की जरूरत नहीं पड़ती।

 

Posted By: Nawal Mishra