लखनऊ, जेएनएन। UP rain alert: उत्तर प्रदेश में पिछले चौबीस घंटों से लगातार हो रही भारी बारिश के चलते प्रदेश भर के सभी स्कूल और कालेज सहित सभी शिक्षण संस्थानों को दो दिन शुक्रवार व शनिवार के लिए बंद करने का आदेश योगी सरकार ने जारी किए हैं। अब तीन दिन बाद सोमवार 20 सितंबर को स्कूल और कालेज खुलेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के कई क्षेत्रों में हो रही भारी बारिश को देखते हुए सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को पूरी तत्परता से राहत कार्य संचालित करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि वरिष्ठ अधिकारी क्षेत्र का भ्रमण कर राहत कार्यों पर नजर रखें। उन्होंने इस आपदा के वक्त में लोगों से सावधानी बरतने की भी अपील की है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अफसरों से कहा है कि इस आपदा को देखते हुए सभी प्रभावित जिलों में राहत कार्य प्रभावी रूप से कराए जाएं। आपदा से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचाई जाए। जल जमाव की स्थिति में प्राथमिकता पर जल निकासी की व्यवस्था कराई जाए। उन्होंने संबंधित जिलों के अधिकारियों को इस आपदा से हुए नुकसान का आकलन करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने 17 और 18 सितंबर, 2021 को प्रदेश में सभी स्कूल और कालेजों सहित सभी शिक्षण संस्थानों को बंद रखने के निर्देश दिए हैं।

यह भी पढ़ें : यूपी में आफत की बारिश, पेड़ और घर गिरने से 35 लोगों की मौत; मौसम विभाग का अलर्ट- दो दिन चलेगा दौर

बारिश से प्रभावित क्षेत्रों में तत्परता से कराएं राहत कार्य : बीते 24 घंटे के दौरान प्रदेश के कई जिलों में भारी बारिश के कारण कई इलाकों में जबर्दस्त जलभराव हो गया है। अत्यधिक बारिश, वज्रपात, डूबने और सर्पदंश से कई लोगों की मृत्यु भी हुई है। प्रदेश के कई क्षेत्रों में भारी बारिश को देखते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी मंडलायुक्तों और जिलाधिकारियों को पूरी तत्परता से राहत कार्य संचालित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने आपदा से जान गंवाने वाले लोगों के शोकसंतप्त स्वजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करते हुए अधिकारियों को मृतकों के आश्रितों को तत्काल आर्थिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए कहा है।

लभराव वाले इलाकों में तत्काल जल निकासी का कराएं इंतजाम : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि वरिष्ठ अधिकारी क्षेत्र का भ्रमण कर राहत कार्यों पर नजर रखें। लोगों से सावधानी बरतने की अपील भी की है। उन्होंने कहा है कि इस आपदा के दृष्टिगत जिलों में प्रभावी तरीके से राहत कार्य कराए जाएं। आपदा से प्रभावित लोगों को तत्काल राहत पहुंचायी जाए। उन्होंने जलभराव वाले इलाकों में प्राथमिकता पर जल निकासी की व्यवस्था सुनिश्चित करने का निर्देश दिया है। उन्होंने बारिश से प्रभावित जिलों के अधिकारियों को इस आपदा से हुए नुकसान का आकलन करने के लिए कहा है।

यह भी पढ़ें : यूपी में भारी बारिश के चलते नगरीय निकायों, जल संस्थान और जल निगम कर्मियों के अवकाश निरस्त

24 घंटे में प्रदेश में 33.1 मिलीमीटर औसत वर्षा : राहत आयुक्त रणवीर प्रसाद ने बताया कि बीते 24 घंटे में उत्तर प्रदेश में 33.1 मिलीमीटर औसत वर्षा हुई है, जो सामान्य वर्षा 7.6 मिलीमीटर के सापेक्ष 435.5 प्रतिशत है। इस प्रकार प्रदेश में पहली जून से अब तक 665.3 मिलीमीटर औसत वर्षा हुई जो सामान्य वर्षा 739.7 मिलीमीटर के सापेक्ष 90 प्रतिशत है।

यह भी पढ़ें : बारिश की वजह से यूपी बोर्ड की अंक सुधार परीक्षा निरस्त नहीं, 18 सितंबर से ही होगी

Edited By: Umesh Tiwari