लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने बुधवार को आपराधिक मामलों का सामना कर रहे कुछ उम्मीदवारों को टिकट देने के पार्टी के फैसले का बचाव किया। अख‍िलेश ने कहा क‍ि इनमें से अधिकतर मामले भारतीय जनता पार्टी सरकार द्वारा राजनीत‍ि से प्रेर‍ित होकर दायर किए गए थे। अखिलेश ने कहा, गायत्री प्रजापति की पत्नी पर उनके खिलाफ कोई मामला नहीं है, मामले उनके पति के खिलाफ हैं। आजम खां के खिलाफ ज्यादातर मामले भाजपा शासन में दर्ज किए गए थे। वहीं जहां तक ​​नाहिद हसन का सवाल है, भाजपा (सरकार) ने उनके खिलाफ सबसे अधिक मामले दर्ज किए हैं। 

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मंगलवार को अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि उनकी पार्टी और उनके सहयोगी राज्य में आगामी विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) को सत्ता में लौटने से नहीं रोक सकते हैं और आरोप लगाया कि सपा अपराधियों को टिकट दे रही है। सपा प्रदेश में फ‍िर से भाजपा के कमल को खिलने से नहीं रोक पाएगी।

कहा, सपा ने आगामी चुनाव के लिए जो उम्मीदवारों की सूची जारी की है, उससे पता चलता है कि यह कोई राजनीतिक दल नहीं बल्कि गैंगस्टरों, अपराधियों, माफियाओं की पार्टी है। यूपी में चुनाव नहीं लड़ रहे हैं, बल्कि राज्य के लोगों को धमका रहे हैं। मैं उनसे कहना चाहता हूं कि आप जितने भी अपराधियों को टिकट देंगे, आपकी साइकिल पंक्चर हो गई है और पंचर हो जाएगी।'

समाजवादी पार्टी ने उत्तर प्रदेश के जेल में बंद पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की पत्नी महाराजी देवी को अमेठी से आगामी यूपी चुनाव के लिए टिकट दिया है। रामपुर सीट से सपा प्रत्याशी लोकसभा सांसद आजम खान पिछले साल फरवरी 2020 से सीतापुर जेल में बंद हैं क्योंकि उनके खिलाफ कई मामले दर्ज हैं। कैराना से सपा प्रत्याशी नशीद हसन को यूपी पुलिस ने इस महीने की शुरुआत में गैंगस्टर एक्ट के तहत गिरफ्तार किया था और फिलहाल वह न्यायिक हिरासत में हैं। उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों के लिए सात चरणों में मतदान 10 फरवरी से शुरू होगा। उत्तर प्रदेश में 10 फरवरी, 14, 20, 23, 27 फरवरी और 3 और 7 मार्च को मतदान होगा। 

Edited By: Anurag Gupta