लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का नौ अक्टूबर को झांसी जिला का दौरा है। अखिलेश यादव झांसी में करगुआ खुर्द जाएंगे। वहां पर अखिलेश यादव पुलिस एनकाउंटर में मारे गए पुष्पेंद्र के परिवार के लोगों से मिलेंगे। झांसी में इंस्पेक्टर, धर्मेंद्र सिंह चौहान मोंठ पर गोली चलाने वाले पुष्पेंद्र यादव को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था।

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पुलिस मुठभेड़ में मारे गए पुष्पेंद्र यादव के परिजनों से मिलने नौ अक्टूबर को झांसी जाएंगे। उनके कार्यक्रम की जानकारी समाजवादी पार्टी ने ट्वीट पर दी है। समाजवादी पार्टी ने झांसी की इस मुठभेड़ को फर्जी बताया है।

झांसी में पुलिस ने रविवार को मोंठ के इंस्पेक्टर धर्मेंद्र सिंह चौहान पर गोली चलाने वाले पुष्पेंद्र यादव को पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया था। पुलिस के मुताबिक गुरसराय इलाके में पुलिस टीम को देखकर पुष्पेंद्र ने फायरिंग कर दी। पुलिस की जवाबी कार्रवाई में गोली लगने से पुष्पेंद्र घायल हो गया। घायल आरोपी को लेकर पुलिस जिला अस्पताल पहुंची, जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। बताया जा रहा है कि इंस्पेक्टर धर्मेंद्र दो दिन पहले छुट्टी पर अपने घर कानपुर गए थे। शनिवार की रात मोंठ इंस्पेक्टर इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कानपुर से अपनी कार से मोंठ आ रहे थे। इस दौरान पुष्पेंद्र ने रास्ते में उनको फोन कर कहा कि वह मिलना चाहता है।

इंस्पेक्टर ने उससे मोंठ से पहले हाइवे पर मिलने को कहा। जैसे ही वहां कार से इंस्पेक्टर पहुंचे खनन माफिया ने फायरिंग कर दी। दोनों गोली उनके बगल से निकल गई। इसके बाद माफिया और उसके साथी ने इंस्पेक्टर पर हमला कर दिया। घटना की जानकारी पाकर डीआईजी सुभाष सिंह बघेल, एसएसपी डॉ. ओपी सिंह, अपर पुलिस अधीक्षक देहात राहुल मिठास समेत कई थानों का फोर्स मौके पर पहुंच गई। एसएसपी डॉ. ओपी सिंह ने बताया कि दो दिन पहले मोंठ इंस्पेक्टर ने बालू माफिया की गाड़ी के खिलाफ कार्रवाई करते हुए सीज कर दी थी। एरच के करगुवां निवासी विपिन, पुष्पेंद्र व रविंद्र के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। 29 सितंबर को बालू से भरा ट्रक बंद किए जाने के विरोध में इंस्पेक्टर पर हमला किया गया था। घटना के बाद पुलिस ने हमलावरों की घेराबंदी की।

इसके बाद बदमाशों ने इस घटना को अंजाम दिया है। एसएसपी ने बताया कि बदमाशों की तलाश में छापेमारी की जा रही है। इंस्पेक्टर की हालत स्थिर बताई जा रही है। एसएसपी ने जानकारी देते हुए बताया कि गोली इंस्पेक्टर के गाल को छूते हुए निकल गई। बदमाश अपनी बाइक मौके पर ही छोड़ थाना प्रभारी की निजी कार लूटकर फरार हो गए। इसकी सूचना पाकर सक्रिय हुई पुलिस ने गुरसराय के जंगल में एक बदमाश को मार गिराया।

मुठभेड़ पर उठे सवाल

राज्यसभा सांसद डॉ. चंद्रपाल सिंह यादव ने मुठभेड़ पर सवाल उठाते हुए पुलिस पर हत्या की रिपोर्ट दर्ज किए जाने की मांग की है। उन्होंने कहा की मोठ पुलिस ने पुष्पेंद्र का ट्रक पकड़ा था, जिसे छोडऩे के लिए लेनदेन की बात चल रही थी, इसी को लेकर कल कहा-सुनी हुई थी। कार लेकर भागने वाली बात भी गलत है। रास्ते में कई थाने पड़ते हैं, ऐसे में उसे क्यों नहीं रोका गया। 

Posted By: Dharmendra Pandey

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप