बहराइच, जेएनएन। पूर्व मुख्‍यमंत्री व समाजवादी पार्टी (सपा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा व कांग्रेस को एक ही सिक्के के दो पहलू बताते हुए दोनों पर नफरत की राजनीति करने का आरोप मढ़ा। भाजपा शासन में प्रदेश में अपराध व अपराधियों के बेखौफ घूमने व सपा कार्यकर्ताओं का बेवजह उत्पीडऩ करने की बात कही। 

दरअसल, रविवार को पयागपुर पहुंचे अखिलेश यादव ने यह बात प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही। उन्‍होंने कहा कि ब्यूरोक्रेसी की मनमानी से कर्मचारियों का उत्पीडऩ हो रहा है। किसान और नौजवान बर्बादी की ओर हैं। नागरिकता संशोधन कानून नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) व नेशनल रजिस्टर फॉर सिटीजन (एनआरसी) को भेदभावपूर्ण करार देते हुए देश के अल्पसंख्यक समुदाय के खिलाफ साजिश बताया।

वहीं, आजम खान का जिक्र आने पर उन्होंने कहा कि भाजपा शासन में बदले की राजनीति चरम पर है। जवाब 2022 में प्रदेश में सपा सरकार बनने पर दिया जाएगा। उन्होंने पीएम मोदी के सूर्य नमस्कार वाले बयान पर भी तंज कसा और कहा कि सपा सरकार में कहा जाता था कि पांच मुख्यमंत्री है, जबकि मेरा कहना है कि भाजपा सरकार में कोई मुख्यमंत्री है ही नहीं।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस