लखनऊ। मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने बरेली-बागेश्वर फोरलेन स्टेट हाईवे आज जनता के सुपुर्द कर दिया। उन्होंने बरेली रेलवे स्टेडियम में उच्चीकृत किए गए इस हाईवे का लोकार्पण किया। पीपीपी मॉडल से फोरलेन किए जाने वाला यह पहला स्टेट हाईवे है। बरेली से उत्तराखंड को जोडऩे वाले 54 किलोमीटर लंबे इस हाईवे को 540 करोड़ रुपये लागत से फोरलेन किया गया है। लोकार्पण के मौके पर हुई जनसभा में मुख्यमंत्री ने एक बार फिर केंद्र पर तंज कसे। विकास के मुद्दे पर निशाना साधा तो सधी जुबान में विरोधी दलों का नाम लिए बगैर सपा की सरकार दोबारा बनवाने की अपील भी कर गए।

मार्केटिंग कंपनी के साथ गया अच्छे दिन का नारा

रेलवे स्टेडियम में मुख्यमंत्री ने सरकार के पूरे वादों का जिक्र किया और भाजपा पर निशाना साधा। कहा कि अच्छे दिन मार्केटिंग कंपनी का नारा था जो कंपनी के पाला बदलने के साथ चला गया। सपा सरकार में ऐसा कोई वादा या नारा नहीं जो पूरा नहीं किया।

'वे' सोशल मीडिया पर जहर फैला रहे

अपने भाषण में उन्होंने दादरी का नाम तो नहीं लिया मगर उस बाबत बहुत कुछ इशारों में कह गए। घटना को दुर्भाग्यपूर्ण माना। बोले, आज प्रदेश को सबसे ज्यादा विकास की जरूरत है लेकिन, 'वे' समाज को सोशल मीडिया पर जहर फैलाकर बांटने की कोशिश कर रहे हैं। प्रदेश और देश का विकास सेक्युलर और समाजवादी रास्ते से हो सकता है। सत्ता में आने के लिए समाज बांटने की कोशिश करने वालों को विकास के मुद्दे पर मंच पर आकर बहस करनी चाहिए।

हर जिले में फोरलेन का वादा

मुख्यमंत्री मिशन 2017 नहीं भूले। बोले, जनता ने दोबारा सरकार बनाई तो सभी जिला मुख्यालयों को फोरलेन सड़कों से जोड़ देंगे। उन्होंने मंच से ही हाईवे का लोकार्पण कर उसे आधिकारिक रूप से जनता के सुपुर्द कर दिया। नैनीताल हाईवे उद्घाटन के साथ एक और नजीर मुख्यमंत्री पेश कर गए। यह कि वे उसी सड़क के रास्ते हल्द्वानी पहुंचे, जिसका उन्होंने उद्घाटन किया। यह अपने आप में पहली घटना थी कि किसी मुख्यमंत्री ने पूरी सड़क का दौरा किया हो। बता दें, अखिलेश यादव उप्र और उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री एनडी तिवारी के जन्मदिन में शामिल होने के लिए हल्द्वानी पहुंचे थे।

उद्घाटन आचार संहिता का उल्लंघन : लक्ष्मीकांत

मुख्यमंत्री अखिलेश यादव द्वारा बरेली-बहेड़ी फोरलेन का उद्घाटन किए जाने को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने आचार संहिता का उल्लंघन करार दिया। प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि जिला पंचायत चुनाव के चलते नगरीय क्षेत्र के अलावा विकास कार्यों का उद्घाटन करना आचार संहिता को तोडऩा है। उद्घाटन करके सीएम ने आचार संहिता को तार-तार किया है। लक्ष्मीकांत वाजपेयी आज बरेली में थे। दादरी कांड को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष ने दुर्भाग्यपूर्ण बताते हुए कहा कि सपा मुखिया कांड पर बयानबाजी करके जांच को प्रभावित कर रहे हैं। नौकरशाही पर सवाल खड़ा करते हुए इटावा, कन्नौज, फिरोजाबाद का उदाहरण दिया और कहा कि यहां सपा नेताओं ने अधिकारियों के साथ मिलकर चुनाव में खुलेआम गुंडागर्दी की। उन्होंने कहा आजम खान ने अपनी जान को खतरा बताकर साबित कर दिया कि उनको अपनी सरकार पर ही भरोसा नहीं। पंचायत चुनाव में अनुशासनहीनता पर उन्होंने बरेली मंडल अध्यक्ष उपेंद्र सिंह को पद मुक्त करते हुए पार्टी से निलंबित कर दिया।

Posted By: Nawal Mishra