कन्नौज (जेएनएन)। आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे की सर्विस रोड बारिश की वजह से कई जगह धसक गई है, जिससे भारी वाहनों को खतरा बढ़ गया है। हालांकि जहां धसका है, वहां कार्यदायी संस्था ने सीमेंट की बोरियां लगाकर अस्थाई रोकथाम कर दी है लेकिन, सड़क किनारे दरार बढ़ती जा रही है। 

एक्सप्रेस-वे के किमी चिह्न 192 के सामने गांगेमऊ और टिकरा गांव के पास सर्विस रोड की मिट्टी करीब 15 दिन पहले धसक गई थी, जिससे सड़क में दरारें आ गई थीं। इस रोड से रोजाना काफी भारी वाहन गुजरते हैं। इससे खतरा बढ़ा है। ग्रामीणों का कहना है कि सड़क ऊंचाई पर बनाई गई है और पास में ही बरसाती नाला है। लगातार बारिश होने के कारण भराव की मिट्टी कट गई और सड़क धंसने की समस्या आई। 

पक्का फुटपाथ नहीं बना 

सर्विस रोड धंसने का एक कारण यह भी है कि इस पर पक्का फुटपाथ नहीं बनाया गया है, जबकि एक्सप्रेस-वे का फुटपाथ सीमेंटेड बना है। लगातार बारिश होने के कारण तिर्वा से तालग्राम के बीच कई स्थानों पर सर्विस रोड की मिट्टी कट गई। गांगेमऊ गांव के पास स्थिति ज्यादा खतरनाक हो गई। जलनिकासी के लिए पक्की नालियां भी नहीं बनाईं गईं हैं। प्रशासनिक अधिकारी एफकॉन लिमिटेड अरविंद कुमार तिवारी ने कहा कि सर्विस रोड हल्के वाहनों के लिए बनाया गया है लेकिन, लोग भारी वाहन इस पर चला रहे हैं। बरसात खत्म होते ही सड़क की मरम्मत कराई जाएगी। कंपनी की पांच साल मरम्मत की जिम्मेदारी है। इसके बाद यूपीडा को हस्तांतरित कर दी जाएगी। 

 

Posted By: Nawal Mishra