लखनऊ [जितेंद्र उपाध्याय] । आइटीआइ में प्रवेश लेने वाले कक्षा आठ पास और हाईस्कूल पास विद्यार्थियों के लिए अच्छी खबर है। ऐसे विद्यार्थियों को पढ़ाई के साथ ही हिंदी और अंग्रेजी विषय पढ़ाई जाएगी जिससे वे आइटीआइ के साथ ही हाईस्कूल और इंटर स्तर की परीक्षा भी पास कर सकें। व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद की ओर से आइटीआइ को उच्चीकृत कर हाईस्कूल और इंटर के समकक्ष करने का प्रस्ताव पिछले वर्ष शासन को भेजा गया था जिसको बीते दिनों हरी झंडी मिल गई है। सितंबर से शुरू होने वाले नए सत्र से इसकी पढ़ाई शुरू हो जाती है। 

राजधानी समेत प्रदेश में 279 राजकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों और 2611 निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानों में 3.5 लाख विद्यार्थियों तकनीकी शिक्षा दी जाती है। कक्षा आठ पास विद्यार्थी आइटीआइ करने के बाद फिर हाईस्कूल करते थे जिससे उनके आगे की पढ़ाई में देरी होती थी। इस नई व्यवस्था से उन्हें हाईस्कूल करने में कोई परेशानी नहीं होगी। हाईस्कूल करने वाले छात्र इंटर की परीक्षा में शामिल हो सकेंगे।

यह होगी प्रक्रिया

कक्षा आठ पास और हाईस्कूल पास आइटीआइ में प्रवेश लेते हैं। एक वर्षीय और दो वर्षीय कोर्स के छात्रों को तकनीकी शिक्षा के साथ ही उन्हे उच्च स्तर की शिक्षा दी जाएगी। कक्षा आठ पास को अब हाईस्कूल स्तर की और हाईस्कूल पास को इंटर स्तर की हिंदी व अंग्रेजी पढ़ाई जाएगी। आइटीआइ पूरी करने के बाद छात्र यूपी बोर्ड से हाईस्कूल व इंटर का फार्म भरेगा। एक विषय में उत्तीर्ण होने के साथ ही उसे हाईस्कूल और इंटर के समकक्ष मान लिया जाएगा।

कितने छात्रों को होगा फायदा

इस नई व्यवस्था से प्रवेश लेने वाले करीब 3.5 लाख विद्यार्थियों में करीब एक लाख कक्षा आठ पास और करीब 50 हजार हाईस्कूल पास होते हैं। इस नई व्यवस्था से ऐसे सभी छात्रों को फायदा होगा। तकनीकी शिक्षा के साथ ही अब वे आगे की पढ़ाई भी कर सकेंगे।

- एससी तिवारी, संयुक्त निदेशक, राज्य व्यावसायिक प्रशिक्षण परिषद  

Posted By: Ashish Mishra