लखनऊ, जागरण संवाददाता। करीब 21 साल की लंबी लड़ाई के बाद दिवंगत कर्नल के घर का मालिकाना हक उनकी पत्नी को मिल जाएगा। कर्नल रंजन मिनोचा की पत्नी सोनिया मिनोचा 26 अक्टूबर को अपने घर में प्रवेश करेंगी। वह 25 अक्टूबर को लखनऊ आ रही हैं। कर्नल रंजन मिनोचा का देहांत 10 जुलाई 2020 को हो गया था। तब से उनकी पत्नी 20 साल से काबिज हुए अपने घर को वापस हासिल करने के लिए भटक रही थी। उन्होंने अपनी पीड़ा का एक वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर वायरल किया था। जिस पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लेकर दिवंगत कर्नल के घर से कब्जा हटाने के आदेश दिए थे। 

कर्नल रंजन मिनोचा का घर अवध जिमखाना क्लब के पास है। इसमें भूतल पर कई साल से परिवहन विभाग का राज्य परिवहन अपीलीय न्यायाधिकरण का कार्यालय चल रहा है। कर्नल रंजन के पिता सन 1999 से अपने घर पर बिना किसी करारनामा के चल रहे न्यायाधिकरण को खाली कराकर वापस कब्जा प्राप्त करने के लिए भटक रहे थे। हाईकोर्ट से इस घर को खाली कराकर कर्नल मिनोचा के पिता को वापस करने का आदेश भी दिया गया था। लेकिन परिवहन विभाग के अधिकारी कोर्ट के आदेश का पालन भी नहीं करा रहे थे। उनके पिता के निधन के बाद कर्नल मिनोचा भी परिवहन विभाग के चक्कर काटते रहे। प्रयागराज कुंभ का सफल आयोजन करने वाले कर्नल मिनोचा के निधन के बाद उनकी पत्नी सोनिया मिनोचा ने घर वापस पाने की लड़ाई लड़ी। मध्य कमान मुख्यालय, मध्य यूपी सब एरिया और सेनाध्यक्ष तक उन्होंने अपनी पीड़ा पहुंचायी।

सेना की ओर से बार-बार शासन स्तर पर संपर्क कर कर्नल मिनोचा का घर वापस दिलाने का आग्रह किया गया। इस पर भी जब कोई कार्रवाई नहीं हुई को सोनिया मिनोचा ने 2:16 मिनट का एक वीडियो बनाकर इंटरनेट पर वायरल किया। जिसमें उन्होंने सीएम से अपना घर वापस दिलाने की गुहार की थी। मध्य कमान के पूर्व स्टाफ अध्यक्ष ले. जनरल (अवकाशप्राप्त) आरपी साही के प्रयासों से मुख्यमंत्री ने प्रमुख सचिव राजेश कुमार सिंह को न्यायाधिकरण को कहीं शिफ्ट कर जल्द ही सोनिया मोनिचा को घर हस्तांतरित करने के आदेश दिए। रमुख सचिव राजेश कुमार सिंह ने परिवहन आयुक्त को पत्र लिखकर जेसी बोस मार्ग स्थित एलडीए आफिस के कक्ष संख्या 25 व 26 में न्यायाधिकरण को शिफ्ट करने का निर्देश दिया। अब न्यायाधिकरण को खाली कराने की कार्रवाई शुरू हो गई है। सोनिया मिनोचा को 26 अक्टूबर को उनका घर वापस मिल जाएगा। दिवंगत कर्नल रंजन मिनोचा के भाई सुदीप रंजन सहित परिवार के कई सदस्य , अवकाशप्राप्त सैन्य अधिकारी व मध्य कमान के कई अधिकारी भी मौजूद रहेंगे।

Edited By: Vikas Mishra