लखनऊ, जागरण संवाददाता। खाने पीने के सामान में मिलावट कर लोगों की सेहत से खिलवाड़ करने वालों पर साढ़े आठ लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। जांच में नमूने फेल होने के बाद एडीएम कोर्ट में चल रहे वाद की सुनवाई पूरी होने के बाद आज 21 प्रतिष्ठानों पर जुर्माना लगाया गया। सबसे अधिक जुर्माना राजश्री स्वीट्स एंड रेस्टोरेंट के संचालक पर लगा है।

बेसन का लड्डू अधोमानक मिलने पर इंदिरा नगर के राजश्री स्वीट्स एंड रेस्टोरेंट के संचालक पर सबसे अधिक 1.35 लाख रुपये जुर्माना लगाया गया है। वहीं एफएसडीए की टीमों ने अलग-अलग इलाकों के प्रतिष्ठानों से आठ खाद्य पदार्थों के नमूने लेकर जांच के लिए भेजा है। सहायक आयुक्त एसपी सिंह का कहना है कि एक महीने के भीतर जुर्माने की राशि अदा नहीं करने पर राजस्व वसूली की तरह कार्रवाई होगी। 

इन प्रतिष्ठानों के संचालकों पर लगा जुर्माना

  • राजश्री स्वीट्स एंड रेस्टोरेंट- बेसन लड्डू- 1.35 लाख
  • संतोष साहू बूंदी भंडार- डोडा बर्फी- 90,000
  • पंडित जी मिष्ठान भंडार- बेसन- 80,000
  • श्री विनायकम- दलिया- 50,000
  • अरोड़ा डिपार्टमेंटल स्टोर- पतीशा- 45,000
  • श्री ट्रेडर्स- मैदा- 45,000
  • चौधरी दूध भंडार- पनीर- 45,000
  • माडर्न डेरी एंड बेकर्स- दूध- 35,000
  • स्वीटी फूड प्रोडक्ट्स- स्पेशल जीरा- 30,000
  • श्री गुरु उद्योग- कुट्टू आटा- 25,000
  • ओयो टाउन हाऊस- पनीर- 25,000
  • श्री मिठाई महल- खोया- 25,000
  • अभय कुमार सिंह- दूध- 25,000
  • न्यू इण्डियन डेरी- पनीर- 25,000
  • मनोज प्राविजन स्टोर- चिक्की-गजक 25,000
  • मो. माशूक- दूध- 25,000
  • इंडियन डेरी- दूध- 25,000

बिना पंजीकरण संचालन पर जुर्माना

प्रतिष्ठान का पंजीकरण करवाए बिना संचालन करने पर इंदिरानगर के गेट वेल मेडिकल स्टोर, तेलीबाग के लखनऊ ब्रदर चिकन सेंटर, खदरा के अल्फासो-2 और राधाग्राम की बाबा डेरी के संचालकों पर 25-25 हजार रुपये जुर्माना लगाया गया है। इसके अलावा एफएसडीए की टीमों ने अलग-अलग इलाकों के प्रतिष्ठानों से खोया, सिंघाड़ा आटा, चावल, कुट्टू का आटा, काजू, बेसन चिप्स व फलहारी नमकीन के नमूने लेकर जांच के लिए प्रयोगशाला भेजा है।

Edited By: Vrinda Srivastava

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट