7th Pay Commission Latest News: लखनऊ, जेएनएन। केंद्र सरकार के 49 लाख कर्मचारियों और 63 लाख पेंशनरों के लिए खुश कर देने वाली खबर है। महंगाई दर के हिसाब से केंद्र सरकार इस बार चार प्रतिशत महंगाई भत्ता (DA) और महंगाई राहत (DR) बढ़ोतरी कर सकती है। ऐसे में जुलाई माह से सरकारी कर्मियों और पेंशनरों को इसका लाभ मिलने लगेगा। फिलहाल अभी इसकी घोषणा नहीं हुई है। लेबर ब्यूरो शिमला से जारी उपभोक्ता मूल्य सूचकांक के आधार पर यह अनुमान निकाला गया है।

केंद्रीय कर्मचारियों को एक जुलाई से चार प्रतिशत महंगाई भत्ता (डीए) मिल सकता है। केंद्रीय कर्मियों के वेतन में हर वर्ष जनवरी और जुलाई में महंगाई भत्ता जुड़ता है, लेकिन उनके वेतन में यह तीन महीने बाद जुड़कर एरियर सहित मिलेगा। केंद्रीय कर्मचारियों को अभी 34 प्रतिशत दर से महंगाई भत्ता मिल रहा है। पहली जुलाई 2022 से महंगाई भत्ते में अगर चार प्रतिशत का इजाफा होता है, तो यह दर 38 प्रतिशत पर पहुंच जाएगी।

प्रयागराज एजी कर्मचारी संघ के पूर्व अध्यक्ष हरिशंकर तिवारी ने बताया कि आधार वर्ष 2001 के अनुसार पिछले 12 महीने का उपभोक्ता मूल्य सूचकांक 362 हो रहा है। इस सूचकांक के आधार पर महंगाई भत्ता का आंकलन किया जाता है। उन्होंने बताया कि इस आंकलन के अनुसार महंगाई भत्ता 38 प्रतिशत बन रहा है। अभी कुल 34 प्रतिशत महंगाई भत्ता मिल रहा है, इसलिए एक जुलाई से चार प्रतिशत महंगाई भत्ता बढ़ जाएगा।

उनके मुताबिक यह भत्ता सितंबर से मिल सकता है। इसका फायदा केंद्रीय कर्मचारियों और पेंशनरों को होगा। इस स्थिति में यदि किसी कर्मचारी की बेसिक सेलरी 18 हजार रुपये है तो उसका वेतन 720 रुपये प्रतिमाह बढ़ जाएगा। एक लाख रुपये की बेसिक सेलरी वाले व्यक्ति के मासिक वेतन में 4000 रुपये की वृद्धि होगी।

बता दें कि 30 जून की महंगाई का जो आंकड़ा है, वह 31 जुलाई को जारी किया जायेगा। उसके बाद कर्मचारियों और पेंशनरों के चार प्रतिशत महंगाई भत्ता और महंगाई राहत के दावों पर मुहर लग जायेगी। इसके बाद उनको 38 प्रतिशत की दर ले भत्ता मिलने लगेगा।

सरकारी कर्मचारियों के महंगाई भत्ता में साल में दो बार वृद्धि की जाती है। पहली बार जनवरी में महंगाई भत्ता में बढ़ोतरी की जाती है और दूसरी बार जुलाई में। जनवरी में सरकार ने तीन प्रतिशत महंगाई भत्ता में वृद्धि की थी। तब महंगाई भत्ता 31 प्रतिशत से बढ़कर 34 प्रतिशत हुआ था।

Edited By: Umesh Tiwari