लखनऊ(जागरण संवाददाता)। गोमती संरक्षण अभियान के तहत चयनित 41 गावों में एक साथ एक लाख से अधिक पौधे रोपे जाएंगे। अधिकारियों ने इसकी तैयारी शुरू करा दी है। गढ्डे खुदवाए जा रहे हैं। 15 अगस्त यानि स्वतंत्रता दिवस पर पौधरोपण अभियान को शुरू कराने की कवायद है। उपायुक्त श्रम एवं रोजगार राजमणि वर्मा को अभियान का नोडल बनाया गया है। 10 किमी की परिधि में होगा पौधरोपण :

गोमती संरक्षण अभियान के तहत चयनित 41 गाव दस किलोमीटर की परिधि में हैं। इनमें बीकेटी ब्लाक की कठवारा, अकडरिया कला, दुधरा, सुलतानपुर, शिवपुरी व जमखनवा ग्राम पंचायतें शामिल हैं। वहीं, चिनहट विकास खंड की रैथा, धतिंगरा, बौरूमऊ, दुगवर, सरौरा, घैला, बाघामऊ, चंदियामऊ, देवरिया व मेहौरा ग्राम पंचायत को लिया गया है। इसी तरह गोसाईंगंज के बक्कास, चुरहिया, नूरपुर बेहटा, फरीदपुर, सुरियामऊ, गौरिया कला, धौरहरा, मोहम्मदाबाद, घुसकर, रहमतनगर, सलेमपुर व बरूआ में पौधरोपण कराया जाएगा। अभियान में काकोरी की जेहटा, सैथा, काकराबाद, गोपरामऊ, बंशीगढ़ी व माल की बहरौरा, शाहपपुर गोड़वा, टिकरीकला, बदैंया, मड़वाना, मंझीनिकरोजपुर, कोलवाभनौरा व मझौवा ग्राम पंचायत भी शामिल है।

प्राथमिकता पर पौधरोपण, अधिकारी करेंगे निगरानी :

यूं तो राजधानी की सभी 570 ग्राम पंचायतों में करीब 6.38 लाख पौधे रोपे जाएंगे। लेकिन गोमती संरक्षण अभियान के तहत चयनित 41 गावों में प्राथमिकता पर पौधरोपण कराया जाएगा। इन गावों में अभियान की मॉनीटरिंग के लिए जिला स्तरीय अधिकारियों को तैनात किया जाएगा। उपायुक्त श्रम एवं रोजगार इसकी रिपोर्ट तैयार कर जिलाधिकारी व मुख्य विकास अधिकारी को भेजेंगे।

क्या कहते हैं अफसर?

श्रम एवं रोजगार उपायुक्त राज मणि वर्मा के मुताबिक, 41 गावों में पौधे रोपने के लिए तैयारी चल रही है। गढ्डे खोदवाए जा रहे हैं। 15 अगस्त से पौधरोपण होगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप