लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव की मतगणना संपन्न कराने के बाद भी पुलिस के लिए शांति-व्यवस्था को बनाए रखने की चुनौती कम नहीं है। मतगणना के बाद चुनावी रंजिश को लेकर आपसी टकराव बढ़ा है। मतगणना प्रारंभ होने से लेकर अब तक प्रदेश में हत्या की दो वारदात समेत आपसी टकराव की 30 घटनाएं हुई हैं। इन घटनाओं में पुलिस ने अब तक 35 आरोपितों को गिरफ्तार किया है। पांच स्थानों पर विजल जुलूस निकाले जाने को लेकर भी एफआइआर दर्ज की गई है। एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार का कहना है कि सभी मामलों में आरोपितों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।

पंचायत चुनाव की मतगणना के दौरान दो मई से पांच मई के बीच सूबे में कई स्थानों पर 30 हिंसक घटनाएं हुईं। पुलिस ने दो घटनाओं में हत्या का मुकदमा दर्ज किया है। इसके अलावा हत्या के प्रयास के सात मुकदमे, पुलिस के साथ मारपीट के पांच मुकदमे, बलवा के 11 तथा मारपीट व अन्य धाराओं में पांच मुकदमे अलग-अलग थानों में दर्ज किए गए हैं। पांच स्थानों पर विजय जुलूस के दौरान भी उपद्रव हुआ।

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार का कहना है कि इन घटनाओं में अब तक 35 आरोपितों की गिरफ्तारी की गई है। जबकि शेष आरोपितों को जल्द गिरफ्तार करने के निर्देश दिए गए हैं। एडीजी का कहना है कि कोरोना की चुनौती के बीच पुलिस अधिकारियों व कर्मियों ने बड़ी कुशलता से पंचायत चुनाव संपन्न कराया है।

प्रशांत कुमार ने बताया कि वर्तमान में कोरोना प्रभावित क्षेत्रों में बनाए गये कंटेनमेंट जोन में 32706 पुलिसकर्मी तैनात हैं और वहां की सुरक्षा व्यवस्था संभाल रहे हैं। वहीं कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए प्रदेश में पुलिस ने चेकिंग अभियान चलाकर नियमों का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध कार्रवाई की है। अब तक मास्क न धारण करने वाले 53.67 लाख लोगों के चालान किए गए हैं।

गोरखपुर में मतगणना में बेईमानी पर बवाल, पुलिस चौकी फूंकी : गोरखपुर में जिला पंचायत सदस्य पद के जीते हुए दो उम्मीदवारों को हारा हुए बताने करने पर भीड़ ने बुधवार को बवाल कर दिया। दोपहर तीन बजे से शुरू हुआ धरना प्रदर्शन शाम को अराजकता में बदल गया और उपद्रवियों ने ब्रह्मपुर ब्लाक परिसर में आग लगा दी। पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो पथराव करते हुए झंगहा थाने की नई बाजार पुलिस चौकी को फूंक दिया। परिसर में खड़े वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पथराव में चौकी प्रभारी अभय पांडेय का सिर फट गया। उपद्रवियों ने पीएसी जवानों की बस भी जला दी। बवाल की सूचना पर फोर्स के साथ पहुंचे एसएसपी ने बल प्रयोग करा भीड़ को हटाया। बवाल के चलते चार घंटे तक नई बाजार चौराहे पर अफरातफरी रही। मौके पर पीएसी और कई थानों की फोर्स तैनात कर दी गई है।