लखनऊ (रसिक शर्मा)। मथुरा के गोवर्धन स्थित गिरिराजजी यानी विशालता मापने का कोई पैमाना नहीं। दिव्यता आकने का कोई मानक नहीं। मगर भक्त और भगवान के अटूट रिश्ते के आगे न केवल पैमाने दरकिनार हो जाते हैं, बल्कि श्रद्धाभाव से सराबोर डोर आस्था को और मजबूती दे देती है। रक्षाबंधन पर बुधवार को 21 किमी में फैले गिरिराज धरण की विशाल शिलाओं को 25 हजार मीटर लंबा रक्षा सूत्र समर्पित होगा। हर एक मीटर में पाच-पाच राखियों की कतारें इस रक्षा सूत्र के सौंदर्य को चार चाद लगाएंगी।

दैनिक जागरण की सात कोस लंबी राखी बनाने की प्रेरणा को मूर्त रूप देने के लिए जतीपुरा मुखारबिंद मंदिर के सेवायत राम पुरोहित एवं सुनीत पुरोहित ने बीड़ा उठाया। 21 किमी लंबी राखी बनाने को तलहटीवासी पूरे जोश के साथ जुट गए। तीन दर्जन से ज्यादा भक्त रक्षा सूत्र में राखिया पिरो रहे हैं। रंगबिरंगी सात कोस लंबी राखी अपनी किस्मत पर इठलाती नजर आ रही है।

गोवर्धन में सुनील पुरोहित का निवास मानो राखी का कारखाना बन गया। राम पुरोहित के अनुसार रक्षा सूत्र में पच्चीस हजार मीटर रेशम का धागा प्रयुक्त किया जा रहा है। प्रत्येक मीटर में बंधी पाच राखिया इसे सुशोभित करेंगी। इसके लिए ठाकुर जी की सेवा में प्रयुक्त होने वाली सोना राखी का विशेष प्रबंध किया गया है। 1.25 लाख राखिया पच्चीस हजार मीटर लंबे रक्षा सूत्र में पिरोकर सात कोस में गिरिराज को धारण कराई जाएंगी। विभिन्न प्रजातियों के पुष्पों से सजी एक बड़ी राखी दानघाटी मंदिर में बाधी जाएगी। सप्तरंग में सजी राखी की खुश्बू वातावरण में अलौकिकता का एहसास कराएगी।

दैनिक जागरण की सोच की लोगों ने काफी सराहना की। ब्रज निष्ठ संत कन्हैया बाबा के अनुसार यह सोच नई पीढ़ी में धर्म का संचार करेगी। दानघाटी मंदिर के प्रबंधक राधाचरण कौशिक के अनुसार नई परंपरा भक्ति मार्ग में मील का पत्थर साबित होगी।

------------------------

हम भी बाधेंगे राखी

इक्कीस किमी लंबे रक्षा सूत्र में राखी बाधने के लिए क्षेत्रीय लोगों में भी उत्साह है। आन्यौर, जतीपुरा, गोवर्धन और राधाकुंड के बाशिदे राखी बाधने के लिए तत्पर हैं। गिरिराज को राखी बाधने के लिए लोगों ने विभिन्न किस्म की राखी तैयार की हैं। गोवर्धन की सोनी शर्मा ने तुलसी की राखी तैयार की है, तो श्वेता कई धागों से राखी तैयार करने में जुटी है। अंजली ने मीठी टॉफियों से राखी सजाई है। आराधना उपाध्याय अपनी सहेलियों के साथ ग्यारह राखी बाधेंगी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर