लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी का फोकस बूथ पर होगा। पार्टी के आक्रामक चुनाव अभियान के केंद्र में मोदी-योगी होंगे। चुनाव से पहले पार्टी कई विशेष अभियानों के जरिये घर-घर दस्तक देकर केंद्र और राज्य की भाजपा सरकारों की उपलब्धियों को जन-जन तक पहुंचाएगी। अपने तीन दिवसीय प्रवास के दौरान भाजपा की सत्ता में वापसी की तैयारियों की थाह लेकर पार्टी के प्रदेश चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान शुक्रवार शाम दिल्ली लौट गए जहां वह शीर्ष नेतृत्व को समीक्षा के निष्कर्षों की जानकारी देंगे।

वापसी से पहले शुक्रवार को धर्मेंद्र प्रधान ने प्रदेश संगठन के नेताओं के साथ चुनावी तैयारियों की बारीकी से समीक्षा की। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर शुरू किये गए सेवा-समर्पण अभियान, बूथ विजय अभियान, प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन सहित मौजूदा कार्यक्रमों और आगामी कार्ययोजनाओं पर विस्तृत चर्चा की। चुनावी तैयारियों में सबसे ज्यादा जोर बूथ प्रबंधन पर होगा। पार्टी की ओर से संचालित किये जा रहे बूथ विजय अभियान, पन्ना प्रमुखों की नियुक्ति और सम्मेलनों के साथ ही 26 से दो अक्तूबर के बीच प्रस्तावित जनसंपर्क अभियान को धारदार बनाने के तौर-तरीके पर मंथन हुआ।

प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलनों का दूसरा चरण शुरू करने पर भी विचार विमर्श हुआ। यह भी तय हुआ कि मोदी-योगी सरकारों के काम को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाने को खास अहमियत दी जाएगी। क्षेत्रों में सह प्रभारियों की बैठकें तय करने के साथ जिला और विधानसभा स्तर तक की बैठकों के कार्यक्रमों की रूपरेखा भी तैयार कर ली गई है। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह, प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल और पार्टी के प्रदेश पदाधिकारी मौजूद थे।

विधानसभा चुनाव जीतने के लिए भाजपा ने पूरी ताकत झोंकते हुए चुनाव और संगठन प्रभारियों की पूरी टीम सूबे में तैनात कर दी है। केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान व अनुराग ठाकुर सहित आठ वरिष्ठ नेताओं को चुनाव प्रबंधन का जिम्मा सौंपा गया है तो राधामोहन सिंह की अगुआई में सात सदस्यीय टीम संगठन को धार देगी।

Edited By: Umesh Tiwari