लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। अवैध मतांतरण मामले में उत्तर प्रदेश आतंकवाद निरोधक दस्ते (यूपी एटीएस) ने मौलाना कलीम सिद्दीकी (64) को पुलिस रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। खासकर इस सिंडीकेट से जुड़े अन्य बड़ों तक पहुंचने के प्रयास किए जा रहे हैं। एटीएस के अलावा खुफिया एजेंसियों के अधिकारी भी मौलाना कलीम से विदेश से हो रही फंडिंग समेत अन्य कई बिंदुओं पर पूछताछ कर रहे हैं। एटीएस मौलाना कलीम को लेकर दिल्ली में भी पड़ताल करेगी। वह दिल्ली में काफी सक्रिय था। एक टीम उसे साथ लेकर दिल्ली जा सकती है। जहां खासकर मौलाना कलीम के ट्रस्ट जामिया ईमाम वलीउल्ला की गतिविधियों व उससे जुड़े अन्य लोगों के बारे में छानबीन की जाएगी।

एटीएस ने शुक्रवार सुबह मौलाना कलीम को 10 दिनों की पुलिस रिमांड पर लेकर सवाल-जवाब शुरू किए। एएसपी के नेतृत्व में एक टीम मौलाना से देश-विदेश से हो रही फंडिंग को लेकर पूछताछ कर रही है। यह जानने का प्रयास किया जा रहा है कि मतांतरण के लिए फंडिंग में और किन-किन लोगों व संस्थाओं की भूमिका है। जामिया इमाम वलीउल्ला ट्रस्ट के खाते में अब तक तीन करोड़ रुपये की फंडिंग की बात सामने आ चुकी है। इनमें डेढ़ करोड़ रुपये बहरीन से एक बार में ट्रस्ट के खाते में भेजे गए थे। एटीएस अब ट्रस्ट व उससे जुड़े अन्य लोगों के और खातों के बारे में भी जानकारी जुटाने का प्रयास कर रही है।

मौलाना कलीम सिद्दीकी के खातों का ब्योरा भी जुटाया जा रहा है। अन्य राज्यों में उसका नेटवर्क भी पता किया जा रहा है। मुख्य आरोपी उमर गौतम की संस्था संस्था अल-हसन एजुकेशन एंड वेलफेयर फाउंडेशन के खातों में भी विदेश से फंडिंग हो रही थी। इन दोनों ही संस्थाओं के आपसी कनेक्शन व लेनदेन को भी देखा जा रहा है। एटीएस ने 21 सितंबर को मौलाना कलीम को मेरठ से गिरफ्तार किया था।

ऊंची जाति की हिंदू लड़कियों पर थी खास नजर : इंटरनेट मीडिया पर एक आडियो भी वायरल हुआ है, जिसमें मौलाना कलीम हिंदू लड़कियों के मतांतरण को लेकर अपने एक करीबी से बात कर रहा है। आडियो में ऊंची जाति की हिंदू लड़कियों के मतांतरण से लेकर लाकडाउन के कारण मतांतरण कम होने की भी बात कही जा रही है। अधिकारियों ने बताया कि वायरल वीडियो को लेकर भी जांच की जा रही है।

एटीएस ने हेल्पलाइन नंबर पर मांगी संपत्तियों की जानकारी : एटीएस अवैध मतांतरण के मामले में अब तक उमर गौतम व मौलाना कलीम सिद्दीकी समेत कुल 11 आरोपितों को गिरफ्तार कर चुकी है। इनमें गुजरात, दिल्ली, झारखंड व महाराष्ट्र के निवासी आरोपित भी हैं। कई राज्यों में फैले इस मामले की जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है। एटीएस ने उमर गौतम व मौलाना कलीम सिद्दीकी की चल-अचल संपत्तियों का ब्योरा जुटाने के लिए हेल्पलाइन नंबर 9792103156 जारी किया है। इस नंबर पर दोनों की संपत्तियों के अलावा पूरे प्रकरण से जुड़ी अन्य सूचनाएं साझा की जा सकती हैं। एटीएस अधिकारियों का कहना है कि सूचना देने वाले व्यक्ति की पहचान गोपनीय रखी जाएगी। controlroom.ats-up@gov.in पर भी सूचनाएं साझा की जा सकती हैं।

Edited By: Umesh Tiwari