लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश में लम्बे समय से खाली पड़े मनोनीत विधान परिषद सदस्यों के चारों पद शीघ्र ही भरे जाएंगे। भारतीय जनता पार्टी की कोर कमेटी की गुरुवार की बैठक के बाद नाम लगभग फाइनल हो गए हैं। कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी में शामिल होने वाले पूर्व केंद्रीय मंत्री जितिन प्रसाद का नाम तो पहले ही तय था, अब निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद का नाम भी फाइनल हो गया है।

भारतीय जनता पार्टी की कोर ग्रुप की बैठक में गुरुवार रात की बैठक में प्रदेश में विधान परिषद के चार सदस्यों के नाम पर सहमति बन गई है। इनमें जितिन प्रसाद के साथ ही अब निषाद पार्टी के अध्यक्ष डॉ. संजय निषाद का नाम भी शामिल हो गया है। माना जा रहा है कि संजय निषाद के नाम की घोषणा उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के प्रभारी शुक्रवार को ही कर देंगे। इन दोनों के साथ ही भाजपा की उपाध्यक्ष तथा उत्तराखंड की पूर्व राज्यपाल बेबी रानी मौर्या के नाम पर भी मुहर लगी है। इन तीन के साथ एक पिछड़ी जाति के नेता का भी इस पद के लिए मनोनयन हो गया है।

सीएम योगी आदित्यनाथ के सरकारी आवास पर गुरुवार रात भाजपा की कोर समिति की बैठक में सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ भाजपा के उत्तर प्रदेश प्रभारी पूर्व केन्द्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह, भाजपा के विधानसभा चुनाव प्रभारी धर्मेन्द्र प्रधान, भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह, उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य व डॉ. दिनेश शर्मा के साथ प्रदेश महामंत्री संगठन सुनील बंसल शामिल भी थे।

Edited By: Dharmendra Pandey