लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव का भारतीय जनता पार्टी पर हमला जारी है। विश्वकर्मा जयंती पर शुक्रवार को अखिलेश यादव ने लखनऊ में दावा किया कि 2022 के विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी सरकार का सफाया हो जाएगा। इसके साथ ही उन्होंने घोषणा कर दी कि उनकी सरकार बनते ही विश्वकर्मा जयंती पर अवकाश करा दिया जाएगा।

अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने पहले की किसी भी सरकार की तुलना में अधिक झूठ बोला है। ऐसा लगता है कि भाजपा झूठ का ट्रेनिंग सेंटर चला रही है। जनता को गुमराह करने के लिए अफवाहें फैलाई जा रही हैं। इस सरकार में सबसे ज्यादा झूठ बोला गया है। भाजपा की केन्द्र तथा राज्य की सरकार झूठ का प्रशिक्षण केन्द्र चला रहे हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि इंटरनेट मीडिया में भाजपा ïके ई-रावण बैठे हैं। समाजवादी पार्टी से जुड़े लोग काफी सीधे होते हैं। मोबाइल पर जो चीजें आ जाती है उसपर यकीन कर लेते हैं। जनता के बीच में अब तो इंटरनेट मीडिया से अफवाह फैलाई जा रही है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश का चुनाव देश का सबसे बड़ा चुनाव होने जा रहा है। बिहार के चुनाव में बेईमानी ईवीएम और डीएम ने की लेकिन पश्चिम बंगाल की जनता ने जवाब दिया। हमें इस बार हम सभी को ईवीएम और डीएम से सावधान रहना होगा। मुझे भरोसा है अब यह सरकार जाने वाली है इस सरकार का सफाया होगा। इस सरकार में हर वर्ग के लोग अपमानित हुए हैं।

लखनऊ में समाजवादी पार्टी के विश्वकर्मा जयंती समारोह में अखिलेश यादव ने कहा कि सभी को भगवान विश्वकर्मा जयंती की बहुत बधाई। इस आयोजन के लिए पूर्व एमएलसी रामाश्रेय विश्वकर्मा समेत सभी लोगों को धन्यवाद। लखनऊ में कई वर्ष के बाद इतनी भयानक बारिश हुई। उसके बाद भी सभी लोग आए सबका धन्यवाद। नेताजी से लेकर आज तक समाजवादी पार्टी ने हमेशा विश्वकर्मा समाज का सम्मान किया। हमने तो उनके लिए छुट्टी की गई थी लेकिन सीएम योगी आदित्यनाथ ने छुट्टी खत्म कर दी। सपा की सरकार बनी तो प्रदेश में विश्वकर्मा बोर्ड बनेगा। सरकार आते ही विश्वकर्मा पूजा पर छुट्टी देंगे।

अखिलेश यादव ने कहा कि यहां बड़े बड़े उद्योगपति बुलाए गए थे। बड़े बड़े वादे किए थे लेकिन उतना पैसा यूपी में नही आया। उत्तर प्रदेश का विकास सिर्फ कागजों पर है जमीन पर नहीं दिखाई देता। इस सरकार ने अब तक कोई बड़ा काम नहीं किया। अखिलेश यादव ने कहा कि प्रदेश के ऐसे मुख्यमंत्री हैं जो लैपटॉप ही नहीं चला पाते हैं, इसीलिए छात्र-छात्राओं को बांटे नहीं। उन्होंने कहा कि कोरोना में सबका कारोबार बंद हो गया। अर्थव्यवस्था चौपट हो गई। अब पटरी पर आ रही है। जिसमें सरकार का कोई योगदान नहीं है। आम लोगों का योगदान है। अगर सरकार सही तैयारी करती तो तमाम लोगों की जान बचाई जा सकती थी।

लखनऊ में आज विश्वकर्मा समाज के लोगों ने अखिलेश यादव से मुलाकात की और गोमती किनारे विश्वकर्मा मंदिर बनाने की मांग की। विश्वकर्मा समाज के अखिलेश यादव को सुदर्शन चक्र देकर सम्मानित किया। विश्वकर्मा समाज के लोगों ने सपा मुखिया अखिलेश यादव को हथौड़ा, तलवार, चांदी का मुकुट पहनाकर सम्मानित किया।  

Edited By: Dharmendra Pandey