लखनऊ, जेएनएन। भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष संगठन ने उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 का रोडमैप तैयार करना शुरू कर दिया है। लखनऊ में भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष के साथ ही उत्तर प्रदेश के प्रभारी पूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह ने मोर्चा संभाल लिया है। जून में लगातार दूसरी बार लखनऊ पहुंचे संतोष व राधा मोहन भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में बैठक करेंगे। उनके साथ भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा महामंत्री संगठन सुनील बंसल भी हैं।

भाजपा दफ्तर से बीएल संतोष के साथ राधा मोहन सिंह ने सिविल अस्पताल जाकर वैक्सीनेशन का जायजा भी लिया। उनके साथ सीएम योगी आदित्यनाथ तथा भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह भी सिविल अस्पताल पहुंचे थे। इसके बाद बीएस संतोष ने निराला नगर के सरस्वती कुंज का रुख किया। जहां पर वह राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के पदाधिकारियों से भी मिले। वहां पर संघ के कुछ पदाधिकारियों के साथ बैठक करने के बाद यह सभी लोग भाजपा के राज्य मुख्यालय में पहुंचेंगे। उनके साथ भाजपा उत्तर प्रदेश के प्रभारी राधा मोहन सिंह, भाजपा उत्तर प्रदेश के अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह तथा भाजपा उत्तर प्रदेश के महामंत्री संगठन सुनील बंसल भी थे।

विधानसभा चुनाव 2022 के लिए उत्तर प्रदेश को मथने के लिए भारतीय जनता पार्टी ने पूरी तरह कमर कस ली है। इसी महीने की शुरुआत में दो दिन तक मैराथन बैठकें कर सरकार के साथ ही संगठन के कामकाज की रिपोर्ट लेकर दिशा-निर्देश देकर गए पार्टी के राष्ट्रीय महामंत्री संगठन बीएल संतोष, प्रदेश प्रभारी राधा मोहन ङ्क्षसह के साथ सोमवार को दोबारा राजधानी पहुंचे हैं। दो दिनी बैठक के पहले दिन यानी आज संगठन पदाधिकारियों के साथ उनकी बैठकें प्रस्तावित हैं। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित राष्ट्रीय नेताओं के प्रदेश के संभावित दौरों को लेकर भी रूपरेखा बनाई जा सकती है।

भाजपा ने आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर संगठनात्मक गतिविधियों को और तेज कर दिया है। सरकार के साथ बेहतर से बेहतर तालमेल बनाया जा रहा है, जिसके तहत मंत्रियों को भी प्रभार वाले जिलों में प्रवास का जिम्मा सौंप दिया गया है। इधर, आयोग, मोर्चे, प्रकोष्ठ और विभागों के खाली पद भरने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। अब आगे के और कार्यक्रम बनाए जा रहे हैं। इसी सिलसिले में बीएल संतोष और राधा मोहन सिंह सोमवार सुबह लखनऊ पहुंचे हैं।

वह दो दिन के प्रवास पर हैं और यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में संगठन पदाधिकारियों के साथ बैठकें करेंगे। प्रदेश भर में शुरू किए गए पोस्ट कोविड सेंटर, टीकाकरण जनजागरण अभियान और अन्य सेवा कार्यों के साथ ही संगठन के पिछले कार्यक्रम व अभियानों की समीक्षा करेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और सरकार के मंत्रियों के साथ भी मुलाकात संभावित है। माना जा रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जुलाई से हर माह उत्तर प्रदेश के दौरे पर आ सकते हैं। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, गृह मंत्री अमित शाह और राजनाथ सिंह के भी पाक्षिक दौरे की संभावना जताई जा रही है। इन दौरों की तैयारी के संबंध में लखनऊ में होने वाली दो दिन की बैठक में भी चर्चा हो सकती है।