लखनऊ[राज्य ब्यूरो]। कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के बढ़ते प्रकोप के बीच पुलिस अपने संसाधनों व सुविधाओं को लगातार बढ़ा रही है। पुलिस के कोविड केयर सेंटरों में बेडों की संख्या बढ़कर अब 2993 हो गई है। इनमें 299 बेड पर आक्सीजन की सुविधा भी उपलब्ध है। पुलिस के कोविड केयर सेंटरों पर कुल 589 पुलिसकर्मी भर्ती हो चुके हैं, जिनमें 244 पुलिसकर्मियों ने कोरोना को मात दी है और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जा चुकी है। वर्तमान में कोविड केयर सेंटरों में 322 पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है। 

एडीजी कानून-व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि 66 जिलों की पुलिस लाइन में स्थित पुलिस अस्पताल और भवनों को कोविड केयर सेंटर में परिवर्तित कर स्वास्थ्य संबंधी सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई हैं। वाराणसी ग्रामीण में पुलिस लाइन न होने की वजह से कमिश्नरेट पुलिस लाइन में कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। इसी तरह चंदौली पुलिस लाइन में जगह न होने की वजह से चकिया राजकीय अस्पताल में, गोरखपुर पुलिस लाइन में जगह न होने के चलते वीर बहादुर स्पोट्र्स स्टेडियम में, श्रावस्ती पुलिस लाइन में जगह न होने पर जिला अस्पताल में कोविड केयर सेंटर बनाए गए हैं। हमीरपुर, सिद्धार्थनगर, उन्नाव में पुलिस लाइन की बैरकों को आइसोलेशन वार्ड के रूप में तब्दील किया गया है। 

पुलिस अपने संसाधनों का उपयोग कर इन कोविड केयर सेंटरों में बेडों की संख्या बढ़ा रही है। गोरखपुर में 200 बेड, अलीगढ़ में 120 बेड, हरदोई में 110 बेड, गाजियाबाद में 40 आक्सीजन युक्त समेत 90 बेड, बहराइच में 60 बेड, मुजफ्फरनगर में 16 आक्सीजन युक्त सहित 66 बेड, लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट में 20 आक्सीजन युक्त सहित 57 बेड, मेरठ में 30 आक्सीजन युक्त बेड, नोएडा में 10 आक्सीजन युक्त समेत 52 बेड, कानपुर पुलिस कमिश्नरेट में 16 आक्सीजन युक्त बेड तथा वाराणसी कमिश्नरेट में 54 बेड का कोविड केयर सेंटर काम कर रहा है। पीएसी की 34 वाहिनियों में भी 45 आक्सीजन युक्त समेत 628 बेड की सुविधा उपलब्ध है। जीआरपी ने 107 बेड तथा प्रशिक्षण निदेशालय ने 236 बेड का कोविड केयर सेंटर बनाया है। 

कालाबाजारी में अब तक 160 गिरफ्तार : पुलिस कालाबाजारी की सूचनाओं पर भी लगातार कार्रवाई कर रही है। अब तक कालाबाजारी में 160 आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजा गया है। सभी पर गैंगस्टर और रासुका भी लगाने की तैयारी है। एडीजी कानून-व्यवस्था ने बताया कि अब तक 1256 जीवनरक्षक इंजेक्शन, 1350 आक्सीजन सिलिंडर, 18 आक्सीजन कंसंट्रेटर, 844 आक्सीमीटर समेत अन्य उपकरण बरामद किए गए हैं।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप