लखनऊ, जेएनएन। कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते प्रकोप के बीच में भी उत्तर प्रदेश में गांव की सरकार चुनने वालों के जोश में कमी नहीं है। ग्रामीण मतदाताओं में जबरदस्त उत्साह दिखा। छिटपुट हिंसक वारदातों के बीच गुरुवार को 17 जिलों में देर शाम तक 75.38 प्रतिशत वोट डाले गए, जो अब तक सभी चरणों में सर्वाधिक है। अधिकतर मतदान केंद्रों पर छह बजे के बाद भी वोट डालने का काम होता रहा। अंतिम चरण का मतदान निपटने के बाद उम्मीदवारों में आगामी दो मई से आरंभ हो रही मतगणना को लेकर उत्सुकता बनी है।

राज्य निर्वाचन आयुक्त मनोज कुमार ने बताया कि मतदान केंद्रों पर कोरोना बचाव के उपायों का सख्ती से पालन किया गया। पंचायतीराज व अन्य विभागों के कर्मचारी सैनेटाइजेशन कराने में जुटे थे। मास्क बांध करना अनिवार्य होने से कई स्थानों पर सुरक्षाकर्मियों व ग्रामीणों के बीच नोंकझोंक भी हुई। मतदान वाले 17 जिलों में 48,460 पोलिंग बूथ बनाए गए थे। जिन पर पांच लाख से अधिक उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला मतपेटियों में बंद हो गया है।

कोरोना संक्रमण चरम पर होने के अलावा गुरुवार को तापमान भी आम दिनों से अधिक था। इसके बावजूद मतदाताओं ने प्रात: सात बजे से ही बूथों पर कतारें लगा ली थी। प्रात: नौ बजे करीब 11 प्रतिशत मतदान हो चुका था। सूरज चढऩे के साथ ही मतदान की रफतार भी बढ़ती गई। सायं पांच बजे तक संभल में 67 प्रतिशत तक वोट डाले जा चुके थे। इसके अलावा शाहजहांपुर में 65.50 तथा हापुड़ में 65 प्रतिशत मतदान हो चुका था। इसके विपरित बांदा में शाम पांच तक मरत्र 51.96 फीसद मतदाताओं ने ही अपने मतदाधिकार का प्रयोग किया।

शाम पांच बजे तक जिलेवार मतदान प्रतिशत :बुलंदशहर में 62.66 प्रशितत, हापुड़ में 65.00, संभल में 67.00, शाहजहांपुर में 65.50, अलीगढ़ में 62.00, मथुरा में 63.61, फर्रुखाबाद में 64.00, बांदा में 51.96, कौशांबी में 56.50, सीतापुर में 62.02, अंबेडकरनगर में 60.12, बहराइच में 61.71, बस्ती में 62.35, कुशीनगर में 60.36, गाजीपुर में 60.32, सोनीभद्र में 55.84 और मऊ में 59.29 प्रतिशत मतदान हुआ है।

फर्रुखाबाद में फर्जी मतदान रोकने पर हंगामा, मतपेटी में डाली स्याही : फर्रुखाबाद के कायमगंज ब्लाक की ग्राम पंचायत नौगांव के प्राइमरी पाठशाला मतदान केंद्र के बूथ संख्या 58 की मतपेटी में फर्जी मतदान कर रही महिलाओं को रोकने पर विवाद होने लगा। इसी बीच कुछ लोग अंदर घुस आए और मतपेटी में स्याही डाल दी। पीठासीन अधिकारी आमिर खान ने सेक्टर मजिस्ट्रेट कल्पनाथ को फोन पर सूचना दी। इसके बाद मेरापुर थाना पुलिस, तहसीलदार कायमगंज आदि मौके पर पहुंचे। तहसीलदार ने बताया कि पुनः मतदान कराया जाएगा। अराजक तत्वों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

सीतापुर के  हथूरी गांव के मतदान केंद्र पर पथराव और फायरिंग : चौथे चरण में हो रहे मतदान में थाना इमलिया सुल्तानपुर क्षेत्र के हथूरी गांव में गुरुवार दोपहर दो पक्षों में जमकर ईटा पत्थर चले। इस दौरान मतदान केंद्र पर उपद्रवियों की ओर से अवैध असलहा से कई राउंड फायरिंग भी हुई है। इंटरनेट मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो में देखा जा रहा है कि मतदान केंद्र पर मौजूद उपद्रवी एक-दूसरे पर पथराव कर रहे हैं। लोग डंडे भी फेंक कर मार रहे हैं। वायरल वीडियो में फायरिंग की आवाज भी आ रही है। मौके पर मौजूद पुलिस बल दूर खड़ा होकर एक पक्ष को दूर हटने को कह रहा है। इसमें एक मतदाता इंस्पेक्टर अरविंद सिंह राना से बोल रहा है कि देखिए सर ये लोग फायरिंग कर रहे हैं। इस्पेक्टर अरविंद सिंह राना इस व्यक्ति से कह रहे हैं कि हां, फायरिंग हो रही है, दूर हटो। उधर दूसरी तरफ इस मामले में इमलिया सुल्तानपुर थाना प्रभारी कमलेश सिंह ने बताया कि पता चला है कि हथूरी गांव में एक पक्ष वोटर लिस्ट में 250 मतदाताओं के नाम कटने की बात कह रहा है। जिसके चलते विवाद होने की बात कही जा रही है।

बहराइच में प्रधान प्रत्याशी के पति व देवरों पर जानलेवा हमला, गंभीर हालत में मेडिकल कॉलेज में भर्ती: हुजूरपुर थाना क्षेत्र के नारौंदा गांव में मददाताओं को पैसा बांटने वाले दबंगों का विरोध करना प्रधान पति व उनके देवरों को भारी पड़ गया। दबंगों ने लाठी-डंडों व धारदार हथियारों से तीनों सगे भाइयों पर हमला कर मरनासन्न कर दिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है। नरौंदा गांव निवासी राम प्रसाद की पत्नी पंचायत चुनाव में प्रधान पद की दावेदार है। आरोप है कि विपक्षी प्रधान के समर्थक मददाताओं को धमकाकर दबाव बना रहे थे। आरोप है कि लोग मतदाताओं को पैसा भी बांट रहे थे।

जानकारी होने पर प्रधान पति अपने भाई गंगाराम व विजय के साथ मौके पर पहुंचे और आदर्श आचार संहिता की धज्जियां उड़ाने का विरोध किया गया। इस पर नाराज होकर सभी को लाठी डंडो व धारदार हथियारों से हमला क मरनासन्न कर दिया। हमले में तीनों गंभीर रूप से घायल हो गए। जानकारी पाकर प्रधान पति के समर्थक भी लाव लश्कर के साथ मौके पर पहुंचे। घायलों को आनन फानन में सीएचसी हुजूरपुर ले जाया गया। चिकित्सकों ने सभी की हालत गंभीर देख सभी को मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। पीड़ितों का आरोप है कि तहरीर दिए जाने के बाद भी पुलिस ने मामले को दबा रखा है। थानाध्यक्ष ने बताया कि तहरीर दी गई है। मामले में मारपीट का मुकदमा दर्ज कर जांच की जा रही है घायलों में एक पुलिस के जवान व उसके पिता व चाचा का नाम भी आ रहा है की बात पूछने पर थानाध्यक्ष ने ऐसी किसी जानकारी से इंकार किया है। उन्होने कहा कि जल्द ही हमलावरों गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

सीतापुर में प्रत्याशी ने मतपेटी में डाला पानी, नौ बजे तक 10.51 प्रतिशत मतदान : प्रदेश में 17 जिलों में नौ बजे तक 10.51 प्रतिशत मतदान हो गया था। गाजीपुर में सर्वाधिक 15.00 प्रतिशत मतदान हो गया था, जबकि अलीगढ़ में सिर्फ आठ प्रतिशत वोट ही पड़ा था। बुलंदशहर में 9.47, हापुड़ में 11.00, संभल में 12.00, शाहजहांपुर में 9.05, अलीगढ़ में 8.00, मथुरा में 9:52, फर्रुखाबाद में 13.00, बांदा में 10.00, कौशाम्बी में 10.87, सीतापुर में 10.41, अम्बेडकरनगर में 10.58, बहराइच में 10.28, बस्ती में 09.42, कुशीनगर में 09.33, गाजीपुर में 15.00, सोनभद्र में 10.79 और मऊ में 10.00 प्रतिशत मतदान हो गया था। इसी बीच सीतापुर के समैसा गांव के बूथ पर बवाल हो गया। यहां पर एक प्रत्याशी ने मतपेटी में पानी डाल दिया। यहां के शेखापुर पोलिंग पर भी विवाद होने के बाद एसडीएम व सीओ मौके पर पहुंचे। एएसपी उत्तरी डॉ राजीव दीक्षित ने एसडीएम व सीओ लहरपुर यादवेंद्र यादव करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने बताया स्थिति नियंत्रित की जा रही है। उधर सीओ लहरपुर यादवेंद्र यादव ने बताया कि समैसा गांव का मजरा उदयभानपुर है, जहां पर प्रत्याशी के समर्थक द्वारा मतपेटी में पानी डालने का प्रयास किया गया था, लेकिन पुलिस फोर्स ने उसे रोक लिया और मामले को शांत कराने के बाद दोबारा मतदान शुरू करा दिया गया है। वर्तमान में स्थिति नियंत्रण में है। विभिन्न जगहों से फर्जी मतदान संबंधी शिकायतें मिल रही हैं। सुबह दोपहर 10 बजे के दौरान एलिया ब्लॉक के शेखापुर गांव के मतदान केंद्र पर अभिकर्ता के बीच मारपीट जैसी सूचना मिली।

अलीगढ़ में प्रधान प्रत्याशी की मौत, मतदान रोकने से इन्कार: अलीगढ़ के जवां क्षेत्र की ग्राम पंचायत नगौला के प्रधान प्रत्याशी कौशल कुमार की सुबह चार बजे मौत हो गई। निर्धारित समय पर मतदान शुरू हो गया, जिसे रुकवाने के लिए गांव के लोगों ने लिखित में दिया है। अधिकारियों ने मतदान रुकवाने से मना कर दिया है। जोनल मजिस्ट्रेट संजीव कुमार ओझा व सीओ सिविल लाइन अनिल कुमार समानिया ने बताया कि प्रधान प्रत्याशी का निधन होने की सूचना उच्चाधिकारियों तक भी दे दी गई है। फिलहाल मतदान नहीं रोका जा सकता, लेकिन गणना नहीं कराई जाएगी।

पोलिंग बूथ से मतपत्र चोरी होने की सूचना पर ग्रामीणों का हंगामा: फर्रुखाबाद में विकासखंड बढ़पुर की ग्राम पंचायत जैतपुर के पोलिंग बूथ संख्या 116 पर रात में किसी समय प्रधान पद के लगभग 500 मतपत्र चोरी हो गए हैं। आरोप है कि पीठासीन अधिकारी रोबिन मिशेल की तबीयत खराब होने पर वह रात को घर चले गए थे। सुबह इसकी जानकारी होने पर ग्रामीणों ने हंगामा कर दिया। वहां पर पोलिंग रोक दी गई। हंगामा होते देख मतदान अधिकारी ने पोलिंग बूथ से मतपत्र चोरी होने की सूचना सेक्टर और जोनल मजिस्ट्रेट को दी। दोनों अधिकारियों ने घटना के संबंध में डीएम मानवेंद्र सिंह को जानकारी दी।

इसके बाद डीएम के आदेश पर एसडीएम सुनील कुमार और सीओ सोहराब आलम पुलिस बल के साथ पहुंचे। घटनास्थल पर ग्रामीणों का हंगामा जारी है। घटना की जानकारी होते ही जिलाधिकारी मानवेंद्र सिंह और पुलिस अधीक्षक अशोक कुमार मीणा भी मौके पर पहुंचे हैं। यह लोग ग्रामीणों को समझाने में लगे हैं। 

फर्रुखाबाद में नाती की गोद में वोट डालने पहुंची 90 वर्षीया सावित्री: फर्रुखाबाद के विकास खंड मोहम्मदाबाद क्षेत्र की ग्राम पंचायत खिमसेपुर में मतदाताओं में पंचायत चुनाव के लिए उत्साह दिखाई दिया। सुबह से ही बड़ी तादात में मतदाता बूथ पर पहुंचे। गांव की 90 वर्षीय सावित्री देवी चलने-फिरने में लाचार हैं। वह स्वयं बूथ पर नहीं जा पाई तो उन्होंने अपने नाती उपेंद्र सिंह का सहारा लिया। उपेंद्र सावित्री देवी को अपनी गोद में उठाकर वोट डलवाने के लिए बूथ पर पहुंचा। फर्रुखाबाद में पंचायत चुनाव में मतदान करने के लिए उत्साह दिखाई दे रहा है। सुबह ही कुछ बूथों पर बड़ी संख्या में मतदाता तो मतदान केंद्र का गेट खुलने से पहले ही पहुंच गए।

वहां लम्बी लाइन लग गई। कमालगंज ब्लॉक क्षेत्र की ग्राम पंचायत नगला दाऊद मे सुबह 6.30 पर बूथ पर लंबी कतार लग गई। इसके अलावा बढ़पुर ब्लॉक क्षेत्र के गांव खानपुर में भी सुबह से ही मतदाता पहुंचे तो लंबी कतार लगी दिखी।

अलीगढ़ में 1392 मतदान केंद्र: पंचायत चुनाव के लिए अलीगढ़ में मतदान शुरू हो गया है। यहां पर त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए कुल 1392 मतदान केंद्र पर 2969 बूथ बनाए गए हैं।  यहां पर 18 लाख मतदाता 15858 दावेदारों के भविष्य का फैसला करेंगे।

बहराइच में सुरक्षा के कड़े इंतजाम: चौथे चरण के लिए बहराइच जिले में सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया। अधिकतर बूथों पर सुबह ही लंबी कतार लग गई है। यहां पर मतदाता मास्क लगाकर ही बूथों पर आ रहे हैं। इसके बाद भी बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच शारीरिक दूरी तार-तार हो रही है।  सैनिटाइजेशन व मास्क तक की व्यवस्था नहीं है। जिले में 1045 ग्राम पंचायतों के प्रधान, 63 जिला पंचायत सदस्य, 1580 क्षेत्र पंचायत सदस्य व 13703 ग्राम पंचायत सदस्य पदों पर चुनाव हो रहा है।

मतदान के लिए 3856 बूथ बनाए गए हैं। संक्रमण को देखते हुए मतदाताओं को कोरोना प्रोटोकाल के पालन करना अनिवार्य किया गया है। जिले के 3856 बूथों पर मतदान किया जाएगा। ग्राम प्रधान पद पर 7110, क्षेत्र पंचायत सदस्य पद पर 7556, ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 5028 व जिला पंचायत सदस्य पद के लिए लगभग 225 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं। दो प्रधान, 50 बीडीसी समेत 9314 का निर्विरोध निर्वाचन तय है। यहां पर प्रधान पद पर दो, क्षेत्र पंचायत सदस्य पद पर 50 व ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए 9262 प्रत्याशियों के सामने दूसरे प्रत्याशियों ने नामजदगी के पर्चे नहीं भरे हैं। यानी इन प्रत्याशियों को निर्विरोध निर्वाचन तय माना जा रहा है।

सीतापुर में महोली ब्लॉक की तीन ग्राम सभाओं में प्रधान पद का चुनाव नहीं: सीतापुर जिले के 1858 मतदान केंद्रों के 4980 मतदेय स्थलों पर गुरुवार सुबह सात बजे से मतदान शुरू हो गया। उम्मीदवारों की किस्मत मतपेटियों में बंद होने लगी। कई मतदान केंद्रों पर मतदाताओं की लंबी लाइन लग गई। मतदाता सुबह 6 :30 बजे ही मतदान केंद्र पहुंच गए। कुछ मतदान केंद्रों पर मतदान की प्रक्रिया पांच-दस मिनट विलंब से शुरू हो सकी। बूथों पर प्रधान, बीडीसी, जिला पंचायत सदस्य व ग्राम पंचायत सदस्य पद के लिए वोट डाले जा रहे। महोली ब्लॉक की तीन ग्राम सभाओं में प्रधान पद का चुनाव नहीं हो रहा। यहां के मतदान केंद्र पर बीडीसी व जिला पंचायत सदस्य के लिए मतदाता अपने-अपने मतों का प्रयोग कर रहे हैं।

5.5 लाख प्रत्याशियों का फैसला: प्रदेश में आज पंचायत चुनाव के अंतिम चरण के मतदान में 17 जिलों में 2.9 करोड़ से अधिक मतदाता साढ़े पांच लाख प्रत्याशियों के भाग्य विधाता बनेंगे। त्रि-स्तरीय पंचायत चुनाव के चौथे व अंतिम चरण में गुरुवार को विभिन्न पदों के लिए 5,58,205 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला 2,98,21,443 मतदाता करेंगे। प्रदेश के 17 जिलों में कुल 48,460 पोलिंग बूथों पर शाम छह बजे तक वोट डाले जाएंगे। कोरोना संक्रमण के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बचाव उपायों का सख्ती से पालन कराने के लिए कड़े निर्देश जारी हैं। निर्वाचन कराने के लिए 243708 अधिकारियों व कर्मचारियों को तैनात किया गया है। इसमें 395 जोनल मजिस्ट्रेट व 2665 सेक्टर मजिस्ट्रेट के अलावा जिला पंचायत सदस्य पदों के लिए 16 निर्वाचन अधिकारी व 96 सहायक निर्वाचन अधिकारी, क्षेत्र पंचायत सदस्य पदों के लिए 177 निर्वाचन अधिकारी व 1599 सहायक निर्वाचन अधिकारी नियुक्त हैं। ग्राम प्रधान पदों के लिए 208 निर्वाचन अधिकारी तथा 2136 सहायक निर्वाचन अधिकारी तैनात हैं।

मतदान केंद्रों पर सेनेटाइजेशन: 19035 मतदान केंद्रों पर सफाई और सेनेटाइजेशन का कार्य कराया गया। निदेशक पंचायती राज किंजल सिंह ने बताया कि कोरोना गाइड लाइन का पूर्णत: पालन कराने को पोलिंग बूथों पर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, आशा बहुओं और सफाई कर्मियों की ड्यूटी भी लगाई है। बूथों पर मतदाताओं के हाथों को सेनेटाइज करने के लिए पर्याप्त सेनेटाइजर दिए गए हैं। उन्होंने बताया कि 14,120 ग्राम पंचायतों में 9,924 सफाई कर्मी और करीब 31,000 आंगनबाड़ी और आशा बहू कार्यरत हैं।

पल्स आक्सीमीटर व थर्मामीटर भी: निदेशक ने बताया कि पोलिंग बूथों पर निगरानी समिति के सदस्य, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और आशा बहू पल्स ऑक्सीमीटर और थर्मामीटर के साथ रहेंगी। मतदाताओं के मतदान के पहले तापमान और ऑक्सीजन स्तर की निगरानी करेंगीं। सैनिटाइज करने के बाद ही मतदान करने दिया जाएगा।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप