लखनऊ, जेएनएन। देश के नेशनल इंस्टीट्यूट आफ टेक्नोलाजी (एनआइटी), इंडियन इंस्टीट्यूट आफ इन्फार्मेशन टेक्नोलाजी (आइआइआइटी) सहित टाप इंजीनियरिंग संस्थानों में दाखिले के लिए जेईई (ज्वाइंट एंट्रेंस एग्जाम) मेंस परीक्षा का काउंडाउन शुरू हो गया है। ऑनलाइन मोड पर यह परीक्षा 23 फरवरी से चार चरणों में आयोजित की जाएगी। इनमें से सफल टाप 2.50 लाख अभ्यर्थियों को जेईई एडवांस में शामिल होने का मौका मिलेगा। वहां से क्लीयर होने के बाद आइआइटी में दाखिले की राह खुलेगी। पहली बार प्रश्न पत्रों में कुछ प्रश्नों के विकल्प भी मिलेंगे। दरअसल, नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) देश भर में जेईई मेंस की आनलाइन परीक्षा आयोजित करेगी। इंजीनियरिंग के विशेषज्ञ एनके दूबे बताते हैं कि पहली बार मेंस की परीक्षा में च्वाइस मिलेगी। यह व्यवस्था कोविड-19 काल की वजह से की गई है। पहले चरण में लखनऊ में करीब आठ हजार परीक्षार्थी शामिल होंगे।

इस तरह आएगा पेपर

जेईई मेंस में फिजिक्स, केमेस्ट्री और मैथ्स का पेपर आता है। इंजीनियरिंग परीक्षा के विशेषज्ञ एनके दूबे ने बताया कि अभी तक तीनों मिलाकर 75 प्रश्न पूछे जाते थे। प्रत्येक विषय में 25 प्रश्नों में से 20 बहुविकल्पीय और पांच न्यूमैरिकल आधारित होते थे। सभी करने होते थे। अब कुल 90 प्रश्न होंगे, जिनमें से छात्र को 75 हल करने होंगे। च्वाइस की सुविधा न्यूमैरिकल बेस वाले प्रश्नों में मिलेगी।

ये हैं परीक्षा के चरण

  • पहला चरण-23 से 26 फरवरी
  • दूसरा चरण –15 से 18 मार्च
  • तीसरा चरण-27 से 30 अप्रैल
  • चौथा चरण-24 से 28 मई

परीक्षा का समय

  • सुबह की पाली : नौ से 12 बजे
  • दोपहर की पाली : तीन से शाम छह बजे

इनका रखें ध्यान

  • परीक्षा आनलाइन और कोविड गाइडलाइन के अनुसार होगी।
  • मास्क पहनकर हैंड सैनिटाइजर के साथ केंद्र पर जाना होगा।
  • परीक्षा केंद्रों का समय व जरूरी सूचनाएं प्रवेश पत्र पर लिखी गई हैं।
  • सभी परीक्षार्थी निर्धारित समय से अपने परीक्षा केंद्र पर पहुंचें। 

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021