लखनऊ, जेएनएन। UP Board: तीन फरवरी से होने जा रही बोर्ड परीक्षाओं की इस बार न सिर्फ कैमरे से निगरानी की जाएगी, बल्कि इसकी वीडियो रिकार्डिंग भी होगी। स्कूल वीडियो रिकॉर्डिंग को अपने पास सुरक्षित रखेंगे, ताकि माध्यमिक शिक्षा परिषद द्वारा मांगे जाने पर उपलब्ध करा सकें। 

दरअसल, यूपी बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाओं को लेकर सोमवार को विभाग की ओर से दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं। जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह को करीब नौ बिंदुओं पर आधारित निर्देश मिलने के बाद स्कूलों में तैयारियां तेज कर दी गई हैं। 

जिला विद्यालय निरीक्षक डॉ. मुकेश कुमार सिंह ने बताया कि परिषद द्वारा मिले निर्देशों के तहत तीन फरवरी से होने जारी प्रायोगिक परीक्षाओं से पूर्व विद्यालयों के प्रयोगात्मक कक्षों एवं अन्य आवश्यक उपकरणों को पूरी तरह सैनिटाइजर कराना होगा। इसके अलावा स्कूलों को विद्यालय परिसर में सैनिटाइजर, हैंडवाश, थर्मल स्कैनिंग व प्राथमिक उपचार की व्यवस्था अनिवार्य रूप से करनी होगी।

उन्होंने बताया कि किसी विद्यार्थी, शिक्षक या स्कूल कर्मी को खांसी, जुकाम के लक्षण होने पर स्कूल को सीएमओ से संपर्क कर अन्य छात्र छात्राओं से अलग बैठाकर परीक्षाएं कराई जाएं। परीक्षा के दौरान शारीरिक दूरी के मानक का पालन सुनिश्चित रखना संबंधित स्कूल की जिम्मेदारी होगी। प्रायोगिक परीक्षा के दौरान बच्चों के बीच की दूरी कम से कम छह मीटर अवश्य हो। स्कूल आने वाले हर विद्यार्थी व शिक्षक-कर्मचारी को अनिवार्य रूप से मास्क पहनना होगा। अगर बच्चे स्कूल से संबद्ध वाहनों से परीक्षा देने आ रहे हैं तो वाहन को भी पूरी तरह सैनिटाइज कराया जाए। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप