लखनऊ [राज्य ब्यूरो]। उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने 71 जिलों की मतदाता सूची को तैयार कर लिया है। शुक्रवार को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन किया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा परिसीमन को अंतिम रूप देने के बाद अब निर्वाचन आयोग गोंडा, संभल, मुरादाबाद व गौतमबुद्धनगर की मतदाता सूची तैयार करने के लिए विशेष पुनरीक्षण अभियान चलाएगा।

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा चार दिसंबर को मतदाता सूची के वृहद पुनरीक्षण की अधिसूचना जारी की गई थी। अधिसूचना के मुताबिक आयोग शुक्रवार को मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन करेगा।

पुनरीक्षण अभियान की अधिसूचना जल्द :  राज्य सरकार द्वारा वर्ष 2011 की जनसंख्या के आधार पर किए गए परिसीमन से अब जहां गोंडा, संभल, मुरादाबाद व गौतमबुद्धनगर जिले की मतदाता सूची तैयार की जानी है वहीं परिसीमन से 35 जिलों के आंशिक रूप से प्रभावित तकरीबन 170 ग्राम पंचायतों की मतदाता सूची को भी बनाई जानी है। इसके लिए आयोग विशेष पुनरीक्षण अभियान चलाने संबंधी अधिसूचना एक-दो दिन में जारी की जाएगी। जानकारों का कहना है कि मतदाता सूची के विशेष पुनरीक्षण में अधिकतम 45 दिन लग सकते हैं।

मतदाताओं की संख्या में अबकी कम इजाफा : वैसे तो पांच वर्ष के दरमियान तकरीबन दस फीसद मतदाता बढ़ जाते हैं लेकिन बढ़ते शहरी दायरे से पंचायत चुनाव वाले क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या में अबकी कम ही इजाफा दिखाई दे रहा है। वर्ष 2015 के पंचायत चुनाव में मतदाताओं की संख्या जहां 11.74 करोड़ थी वहीं अबकी 12.50 करोड़ रहने का अनुमान है। इस प्रकार से 70 लाख से अधिक मतदाता बढ़ जाएंगे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप