लखनऊ, जेएनएन। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव के कोरोना वैक्सीन को भाजपा की बताने के बाद अब समाजवादी पार्टी पार्टी के सांसद भी उनकी राह पर हैं। देश में कोरोना वैक्सीन अभियान के शुरू होने के साथ ही इस पर सियासत भी शुरू हो गई है।

अपने विवादित बयानों के कारण चर्चा में रहने वाले सम्भल से सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने कोरोना वैक्सीन पर संदेह जताया है। देश के नामचीन चिकित्सा संस्थान के चिकित्सकों के साथ ही वैक्सीन के निर्माता के कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लेने के बाद भी बर्क का कहना है कि वैक्सीन पहली बार आ रही है, अभी तो किसी ने इसे ना देखा है ना समझा है। इसको लेकर उलेमाओं ने पहले ही बयान जारी कर कहा था कि वैक्सीन में कुछ गड़बड़ है। बर्क ने कहा कि टीकाकरण के लिए अभी अभी इंतजार करें। यह वैक्सीन ठीक नहीं है।

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने नार्वे में वैक्सीन के इस्तेमाल से 30 लोगो की मौत का मामला सामने आ चुका है। इसी कारण अभी वैक्सीन ना लगवाएं। उन्होंने कहा कि वैक्सीन मुफीद है या नहीं इसका इंतजार करे। सपा सांसद ने कहा कि सरकार को चाहिए कि टेस्टिंग के बाद ही टीकाकरण करवाएं।

सपा मुखिया अखिलेश यादव ने भी वैक्सीन पर बयान दिया था। जिसमें उन्होंने कहा था कि यह भाजपा की वैक्सीन है, हम इसे नहीं लगवाएंगे। सपा की सरकार आने पर सभी लोगों को फ्री वैक्सीन लगाई जाएगी। 

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप