लखनऊ, जेएनएन। मलिहाबाद के कुसभरी गांव में मंगलवार सुबह घर के अंदर मृत मिले हिमेश (22) की हत्या की गई थी। हत्यारों ने सिर पर भारी वस्तु से प्रहार कर उसकी हत्या की थी। यह पुष्टि बुधवार को पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुआ। इसके अलावा जांच के लिए विसरा भी सुरक्षित किया गया है। पुलिस अब हिमेश की हत्या के मामले में प्रेम प्रसंग समेत कई अन्य बिंदुओं पर पड़ताल कर रही है। वहीं, हिमेश के परिवारीजनों ने घटना के दो दिन बाद भी हत्यारोपितों की गिरफ्तारी न होने पर उन्हें बचाने का आरोप लगा रही है। हिमेश के पिता जगदीश त्रिवेदी का आरोप है कि उनके बेटे को गांव के ही सत्यनारायण, राम अवध, जुगल और एक युवती ने मिल कर की है। पुलिस आरोपितों की गिरफ्तारी करने के बजाए उन्हें बचाने में लगी है।

वहीं, एसपी ग्रामीण ने ह्रदयेश कुमार ने बताया कि घटना की प्रेम प्रसंग समेत कई अन्य बिंदुओं पर जांच की जा रही है। इसके साथ ही हत्यारोपितों की तलाश में दबिश भी दी जा रही है। जल्द ही सभी बिंदुओं पर जांच पूरी करके तथ्यों के आधार पर मामले में कार्यवाही की जाएगी।

घर के अंदर खून से लथपथ हालत में मिला था शव

कुसभरी गांव निवासी हिमेश सोमवार रात गांव में स्थित अपने पैतृत आवास में रोजाना की तरह सोने गया था। जबकि घर के अन्य लोग गांव के बाहर बने नए मकान में थे। मंगलवार सुबह देर तक हिमेश के उठकर घर न लौटने पर उसका बड़ा भाई सोनू गांव के अंदर स्थित मकान में पहुंचा तो वहां कमरे में औंधे मुंह खून से लथपथ हिमेश का शव पड़ा था। उसके मुंह से खून निकल रहा था। पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। इसके बाद हिमेश के बाबा कृष्ण कुमार त्रिवेदी की तहरीर पर सत्य नारायण समेत चार के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया था।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप