लखनऊ, जेएनएन। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को धान क्रय प्रक्रिया की गहन माॅनिटरिंग और क्रय केंद्रों का औचक निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि यह सुनिश्चित किया जाए कि धान क्रय केंद्रों पर किसानों को अपनी उपज बेचने में कोई असुविधा न हो। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि किसानों की उपज का भुगतान 72 घंटे में हो जाए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लखनऊ में अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में कार्यों की समीक्षा की। सीएम योगी ने निर्देश दिए कि प्राथमिक विद्यालयों के विद्यार्थियों को निशुल्क स्वेटर का वितरण समय से कर दिया जाए। यह भी सुनिश्चित किया जाए कि यह स्वेटर गुणवत्तापूर्ण हों।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सरकारी कार्यालयों में सभी कार्मिकों की समय से उपस्थिति पर बल दिया है। उन्होंने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाए कि जिला, तहसील और ब्लाॅक स्तरीय कार्यालयों में भी अधिकारी और कर्मचारी समय से उपस्थित हों। उन्होंने कार्मिकों की कार्यालय में समय से उपस्थिति के सत्यापन के लिए आकस्मिक निरीक्षण करने के निर्देश भी दिए हैं।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने निर्देश दिए कि समस्त जिलाधिकारी तथा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक व पुलिस अधीक्षक सीयूजी नम्बर वाला अपना फोन स्वयं रखे और समय पर कार्यालय आएं। उन्होंने कहा कि इन निर्देशों के अनुपालन की पुष्टि राज्य मुख्यालय स्तर से की जाए। इस अवसर पर मुख्य सचिव आरके तिवारी, अवस्थापना एवं औद्योगिक विकास आयुक्त आलोक टण्डन, कृषि उत्पाद आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी अवस्थी, अपर मुख्य सचिव राजस्व रेणुका कुमार, अपर मुख्य सचिव एमएसएमई एवं सूचना नवनीत सहगल सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021