लखनऊ, जेएनएन। Man Dies In Police Custody: राजधानी स्थित गोमतीनगर विस्तार थाने के लॉकअप में फांसी पर जिस ई-रिक्शा चालक शव लटका मिला था, उसकी पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट बनाने वाले डॉक्टर का बयान अहम होगा। इंस्पेक्टर थाना गोमतीनगर विस्तार अखिलेश कुमार पांडेय ने बताया कि रिपोर्ट बनाने वाले डॉक्टर से जल्द बयान लेकर उसे विवेचना में शामिल किया जाएगा। संबंधित हत्या के मुकदमे में एससी-एसटी की धारा बढ़ाई गई है। उधर पूर्व डीआईजी के नौकर राजकुमार के फरार साथी को पुलिस अभी गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

यह था मामला

मूलरूप से सीतापुर के महोली के मुरनिया गांव निवासी उमेश है। पूर्व डीआइजी उदयशंकर जायसवाल ई-रिक्शा चालक उमेश पर घर में चोरी का आरोप लगाकर उसे शुक्रवार सुबह 6:30 बजे ही थाने लाये थे। उसकी पिटाई भी की गई थी। उधर, थाने में मौजूद पुलिसकर्मियों का कहना था कि चोरी में पकड़े जाने पर उमेश ने अपना सिर वहीं दीवार में लड़ा दिया था, जिससे उसे चोटें आईं। 8:30 बजे उसका शव थाने के लॉकअप में ही फांसी लटका मिला था। उमेश के भाई गुड्डू गौतम ने गोमतीनगर विस्तार थाने में पूर्व डीआइजी उदयशंकर जायसवाल  के नौकर राजकुमार उसके साथी व घटना में शामिल अन्य लोगों के खिलाफ हत्या की एफआइआर दर्ज कराई थी।

 

Posted By: Divyansh Rastogi

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस