लखनऊ [जितेंद्र उपाध्याय]। बीमित कर्मचारियों और श्रमिकों का निश्शुल्क इलाज करने वाले राज्य कर्मचारी बीमा अस्पताल को पिछले महीने कोरोना भर्ती के लिए आरक्षित कर दिया गया। अब गैर पंजीकृत के साथ ही कोरोना संक्रमण से ग्रस्त बीमित कर्मचारी भी यहां भर्ती हो सकते हैं। बीमित कर्मचारियों और उनके आश्रितों के इलाज की सुविधा वाले अस्पताल में ट्रामासेंटर व अस्पताल में 180 बेड हैं जिनमे से 100 पर भर्ती की सुविधा दी जा रही है। इन बेडों में 20 फीसद यानि 20 बेड बीमित कर्मचारी व अस्पताल के स्टाफ के लिए आरक्षित रखा गया है। हालांकि वर्तमान समय में बेड फुल चल रहे हैं।

ओपीडी बंद, चल रही आपात सेवा: बीमित और गैर बीमित बीमारों का यहां 10 रुपये के पर्चे पर इलाज किया जाता है। बीमित कामगारों को कार्ड के साथ निश्शुल्क् इलाज व भर्ती की सुविधा है। कोरोना संक्रमण के इस दौर में फिलहाल ओपीडी बंद कर दी गई है। आपातकालीन सेवा बीमित कर्मचारियों के लिए जारी है। सभी तरह की जांच के साथ ही बीमित कर्मचारियों की कोरोना की एंटीजन जांच की सुविधा भी है।

अस्पताल में अन्य सुविधाएं

  • एक्सरे, अल्ट्रा साउंड व आधुनिक पैथोलॉजी।
  • मेडिसिन व सर्जरी विभाग के साथ ही प्रसूति, हड्डी रोग, बाल रोग,नाक, कान गला रोग, आंख व फेफड़े के राेग के विभाग।
  • आयुर्वेदिक व होम्योपैथी विभाग
  • 24 घंटे आपात कालीन सुविधा और एंबुलेंस सुविधा

बीमित कर्मचारियों को भर्ती की सुविधा: कर्मचारी राज्य बीमा निगम के उप निदेशक सुनील यादव ने बताया कि पिछले महीने प्रदेश सरकार ने अस्पताल को कोरोना संक्रमित के लिए ले लिया था। 100 बेड पर संक्रमित मरीजों को भर्ती करने की सुविधा है। बीमित कर्मचारियों व अस्पताल के स्टॉफ के लिए 100 में से 20 बेड आरक्षित किए गए हैं। हालांकि वर्तमान समय में सभी बेड फुल हैं। बीमित कर्मचारियों के लिए आपातकालीन सुविधा 24 घंटे उपलब्ध है। कैशलेस इलाज के लिए रेफर की व्यवस्था भी है।

30 जून तक कर सकते हैं आवेदन

उप निदेशक सुनील यादव ने बताया कि कर्मचारी राज्य बीमा निगम की ओर से अटल बीमित व्यक्ति कल्याण योजना के तहत 31 दिसंबर 2020 तक नौकरी से निकाले गए पंजीकृत कामगार व श्रमिक 30 जून 2021 तक आनलाइन आवेदन कर सकते हैं। आवेदन की जानकारी के लिए निगम के क्षेत्रीय कार्यालयों में अलग से हेल्प डेस्क बनाई गई है। योजना के तहत कोरोना काल में नौकरी जाने पर औसत वेतन का 50 फीसद रकम 90 दिनों तक मिलेगी। संक्रमण के चलते अभी कार्यालय बंद हैं।

लखनऊ मेंं कर्मचारियों पर एक नजर

  • कुल बीमित कर्मचारी-515080
  • डिस्पेंसरी-29
  • ब्रांच कार्यालय-8
  • पंजीकृत संस्थान-21640