जागरण संवाददाता, लखनऊ : बिजली व्यवस्था में सुधार लाने के लिए प्रमुख सचिव ऊर्जा व चेयरमैन उत्तर प्रदेश पॉवर कारपोरेशन लिमिटेड शनिवार को मध्यांचल के अभियंताओं के साथ बिजली की नब्ज टटोलेंगे। 19 जिलों के अधीक्षण अभियंता व मुख्य अभियंता को तलब किया गया है। इन अभियंताओं को अपने जिलों की प्रोग्रेस रिपोर्ट का प्रजेंटेशन देना होगा। बैठक में घर-घर बिजली कनेक्शन, राजस्व व लाइन लॉस मुख्य मुद्दे होंगे।

मध्यांचल विद्युत वितरण निगम लिमिटेड (एमवीवीएनएल) के प्रबंध निदेशक संजय गोयल ने बताया कि सुबह करीब 11 बजे बैठक बुलाई गई है। इसमें जिलेवार उदय योजना के अंतर्गत कितने नए कनेक्शन हुए और कितना टारगेट पूरा करना बाकी है। इसके अलावा जिलों में कौन से डिवीजन राजस्व का आंकड़ा बिगाड़ रहे हैं, इस पर भी चर्चा होगी। यही नहीं, इसके पीछे के कारण और उनमें अभी और सुधार की जरूरत पर मंथन होगा। इससे पहले हुई बैठक में दिए गए निर्देशों का कितना पालन हुआ। लाइन लॉस कम करने के निर्देश जो पूर्व में दिए गए थे, उनमें कितना सुधार हुआ। बकाएदारों पर नकेल लगाने में जिले का नेतृत्व करने वाले अभियंताओं ने कितनी प्रोग्रेस की और कितना टारगेट से पीछे हैं आदि मुद्दों पर भी चर्चा होनी है।

बड़े बिजली चोरों पर नकेल लगाने के लिए अभियंताओं की ओर से उठाए गए कदमों को भी रखा जाएगा। वरिष्ठों को उम्मीद है कि अभी भी कई जनपदों में बिजली चोरी बदस्तूर जारी है। और यह चोरी विभागीय कर्मियों की मिलीभगत से की जा रही है। मल्टी प्वाइंट कनेक्शन को लेकर एक्शन लेना, हेल्प डेस्क और उपभोक्ता देवो भव : का आखिर कितना पालन हो रहा है, इसे भी परखा जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस