लखनऊ, जेएनएन। प्रादेशिक विकास सेवा संवर्ग के तबादलों में पादर्शिता बरतते हुए परफॉर्मेंस इंडिकेटर अंकों के आधार पर मंगलवार को 39 अधिकारियों के स्थानांतरण किये गए। गन्ना किसान संस्थान स्थित ग्रामीण सड़क विकास अभिकरण के सभागार में ग्राम्य विकास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डॉ. महेंद्र सिंह की मौजूदगी में ब्लैक बोर्ड पर परफॉर्मेंस इंडिकेटर अंकों को लिख कर अधिकारियों को मनचाही पोस्टिंग दी गई। जिस अधिकारी का नंबर सबसे ज्यादा है उसे वरीयता के आधार पर जिले आवंटित किए। ग्राम विकास मंत्री ने बताया कि भारत निर्वाचन आयोग के नियमों के अनुसार अधिकारियों को स्थानांतरित किया है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों के कार्य के आधार पर नंबर देकर मेरिट बनाई गई और उसी मेरिट के आधार पर च्वाइस लेने का अधिकार भी अधिकारियों को दिया गया।

ग्राम्य विकास आयुक्त एनपी सिंह ने बताया कि स्थानांतरित हुए अधिकारियों में चार मुख्य विकास अधिकारी, पांच संयुक्त विकास आयुक्त के साथ जिला विकास अधिकारी, उपायुक्त श्रम रोजगार, उपायुक्त स्वरोजगार व परियोजना निदेशक सहित कुल 39 अधिकारी शामिल हैं। इसमें श्रीकृष्ण त्रिपाठी को मुख्यालय से औरैया में मुख्य विकास अधिकारी, उमेश कुमार त्यागी को मुख्य विकास अधिकारी संभल, डॉ. दिनेश कुमार सिंह को सीडीओ कासगंज नियुक्त किया गया, जबकि संभल में तैनात सीडीओ शंभू नाथ तिवारी को मुख्यालय में संबद्ध किया है। संयुक्त विकास आयुक्त पद पर सत्येंद्र नाथ चौधरी को मुख्यालय से बरेली, श्रीनिवास मिश्र को वाराणसी, सुनील कुमार श्रीवास्तव को सहारनपुर में तैनाती दी गई है। वहीं नवप्रोन्नत बब्बन उपाध्याय को प्रयागराज और अभिराम त्रिवेदी को मीरजापुर में मुख्य विकास आयुक्त नियुक्त किया गया है।

इसके अलावा परियोजना निदेशक राजेश कुमार मिश्र को कौशांबी से जिला विकास अधिकारी बहराइच, पीडी अश्विनी कुमार मिश्र को अयोध्या से हाथरस, चंद्रशेखर शुक्ल को हाथरस से कासगंज, हरेंद्र कुमार सिंह को संभल से औरैया, रमेश चंद को कासगंज से संभल, गया प्रसाद को औरैया से जिला विकास अधिकारी कानपुर नगर, साहित्य प्रसाद मिश्र को अमेठी से जिला विकास अधिकारी बुलंदशहर, एमएल पटेल को बागपत से मुख्यालय भेजा गया है।

 

Posted By: Nawal Mishra