लखनऊ, जेएनएन। सूदखोरों की प्रताडऩा से आत्महत्या करने वाले व्यवसायी के घर से बरामद सुसाइड नोट को पुलिस अब फॉरेंसिक जांच कराएगी। पुलिस का कहना है कि हैंड राइटिंग का मिलान कराने के बाद कई बातें स्पष्ट हो जाएंगी। इसके आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि सी ब्लाक इंदिरानगर निवासी व्यवसायी अनादि त्रिपाठी को सूदखोर लगातार प्रताडि़त कर रहे थे। परेशान होकर अनादि ने फांसी लगा ली। मामले में निर्मल जगत्यानी, उसकी पत्नी अलका व करन सिंह समेत अन्य लोगों के खिलाफ एफआइआर दर्ज की गई थी। पीड़ित परिवार का आरोप है कि मामले में पुलिस दबाव में है। अभी तक पुलिस ने आरोपितों से पूछताछ तक नहीं की है। पीड़ित परिवार ने पुलिस को पूरे मामले से संबंधित साक्ष्य उपलब्ध कराए हैं, जिनमें आरोपितों की रिकॉर्डिंग शामिल है।

बताया गया कि अनादि के घर पर जाकर आरोपित पांच-पांच घंटे बैठे रहते थे और उनसे गाली गलौज अभद्रता करते थे। अनादि की पत्नी अनीता ने पुलिस से कार्रवाई की मांग की है।

 

Posted By: Anurag Gupta