लखनऊ, जेएनएन । साइबर जालसाजों ने पूर्व डीजी एसवीएम त्रिपाठी को जालसाजी का शिकार बना डाला। बैंक का अधिकारी बताकर क्रेडिट कार्ड दिलाने का झांसा देकर खाते से 8,010 रुपये उड़ा दिए। उन्होंने गोमतीनगर थाने में युवती समेत दो लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई है।

गोमतीनगर के विशालखंड तीन निवासी पूर्व डीजीपी एसवीएम त्रिपाठी सीआरपीएफ में डीजी पद पर तैनाती के अतिरिक्त उत्तर प्रदेश मानवाधिकार आयोग के सदस्य भी रहे हैं। पिछले वर्ष 21 जुलाई उनके मोबाइल फोन नंबर पर अनुष्का नाम की युवती की कॉल आई थी। उस युवती ने उनकी बात राकेश नाम के व्यक्ति से भी कराई, जिसने खुद को बैंक का मैनेजर बताया। दोनों ने कार्ड का झांसा देकर उनके मोबाइल फोन पर आया वन टाइम पासवर्ड पूछ लिया और खाते से रुपये उड़ा दिए। जानकारी होने पर रिपोर्ट दर्ज कराई।

 

Posted By: Anurag Gupta