लखनऊ(जेएनएन)। दीपावली के बाद और छठ पूजा के लिए गोरखपुर की ओर जा रहे दर्जनों यात्री रेलवे की लापरवाही का शिकार हो गए। रेलवे ने गोरखपुर इंटरसिटी में सीटों की संख्या से अधिक की बुकिंग कर दी। यात्री जब स्टेशन पर पहुंचे तो उनको सीट ही नहीं मिली। हाथ में कंफर्म सीट का टिकट लेकर मजबूरी में परिवार सहित धक्के खाते हुए रवाना हुए। वहीं रविवार की ट्रेनों के तत्काल कोटे की सीटों के लिए शनिवार को जमकर मारामारी रही। पूर्वांचल की ओर जाने वाली बसों में भी सीटों को लेकर जमकर धक्कामुक्की हुई। 

कई दिनों से लखनऊ जंक्शन-गोरखपुर इंटरसिटी और लखनऊ पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में रेलवे सेकेंड सीटिंग क्लास में 90 की जगह 98 सीटों की बुकिंग कर रहा है। रेलकर्मी सोहन प्रसाद ने एक महीने पहले ही 10 नवंबर का सेकेंड सीटिंग क्लास का आरक्षण कराया था। उनको बोगी डी-1 में सीट नंबर 91 से 95 तक का आरक्षण दिया गया। वह कंफर्म टिकट लेकर परिवार सहित जब लखनऊ जंक्शन पहुंचे तो बोगी में सीट नहीं थी। पूछने पर टीटीई ने बताया कि रेलवे ने गलती से ज्यादा सीटों की बुकिंग कर दी है। मजबूरी में उन्हें ट्रेन में खड़े-खड़े यात्रा करनी पड़ी। वहीं, लखनऊ पाटलिपुत्र एक्सप्रेस में भी इस तरह की शिकायतें आ रही हैं। 

55 सेकेंड में तत्काल फुल

रविवार को दिल्ली, पुणे, मुंबई, बेंगलूर सहित लंबी दूरी की ट्रेनों में सबसे अधिक वेटिंग है। इसका तत्काल कोटे का एसी का आरक्षण शनिवार सुबह 10 बजे खुला। शुक्रवार शाम से ही चारबाग सहित सभी आरक्षण केंद्रों पर लिस्ट बनना शुरू हो गई। शनिवार को चारबाग में दलालों ने लिस्ट फाड़ दी। उसकी जगह दूसरी लिस्ट बना दी। इसे लेकर जमकर हंगामा भी हुआ। लखनऊ से दिल्ली के लिए रविवार को चलाई जाने वाली स्पेशल ट्रेन भी शनिवार सुबह तक फुल हो गई। रविवार को बड़ी संख्या में वेटिंग के यात्री दिल्ली सहित कई रूटों की ट्रेनों में रवाना होंगे।

वहीं, शनिवार को बिहार और पूर्वांचल की ओर जाने वाली गोरखपुर इंटरसिटी, लखनऊ छपरा एक्सप्रेस सहित सभी ट्रेनों की आरक्षित बोगियों में भी जमकर भीड़ रही। कोटा पटना एक्सप्रेस की स्लीपर बोगी  एस-9 में सफर कर रहे सरबजीत ठाकुर ने अपनी बोगी में 250 से अधिक बेटिकट टिकट यात्रियों के कब्जा करने की शिकायत की। उधर शनिवार को भी दिल्ली जाने वाली लखनऊ मेल, एसी सुफरफास्ट जैसी ट्रेनों में लंबी वेटिंग ने यात्रियों के पसीने छुड़ाए। 

चलेंगी 50 अतिरिक्त बसें 

दीपावली बाद वापसी और छठ पर्व को देखते हुए परिवहन निगम 15 नवंबर तक रोजाना 50 अतिरिक्त बसों का संचालन करेगा। इसमें 12 एसी और 38 साधारण बसें होंगी। कैसरबाग से बहराइच, बलरामपुर, देवीपाटन और गोंडा सहित कई कई जिलों को यह बसें रवाना होंगी। जबकि आलमबाग बस अड्डे से वाराणसी, इलाहाबाद, दिल्ली, मिर्जापुर सहित पूर्वांचल के कई जिलों को बसें चलेंगी। आलमबाग बस स्टेशन के एआरएम वीके गर्ग ने बताया कि भीड़ को देखते हुए व्यापक इंतजाम किए जा रहे हैं। वहीं शनिवार को भी आलमबाग और कैसरबाग बस अड्डे पर कई जिलों की ओर जाने वाली बसों में जमकर भीड़ रही। 

विमान का किराया भी बढ़ा

रविवार को भी कई विमानों का किराया बढ़ा। सभी विमानों का रविवार को लखनऊ से दिल्ली का किराया नौ से 11 हजार के बीच पहुंच गया। माना जा रहा है कि रविवार को अंतिम समय तक डिमांड बढऩे पर यह किराया और बढ़ेगा।

सबसे ज्यादा पुणे का किराया

दीपावली बाद वापसी के लिए जहां दिल्ली के विमानों का किराया 11 हजार के करीब हो गया, वहीं रविवार को पुणे जाने के लिए विमान का किराया सबसे अधिक 28 हजार रुपये तक पहुंच गया। इसके अलावा मुंबई के विमानों का किराया भी बढ़ा। लखनऊ से पुणे जाने वाली जेट एयरवेज का विमान 9 डब्ल्यू 769 का किराया 28 हजार 290 रुपये तक पहुंच गया है। इसी तरह लखनऊ से बेंगलुरु जाने वाले इंडिगो के विमान 6 ई 541 का किराया 24 हजार 889 रुपये, लखनऊ से बेंगलुरु के लिए ही गो एयर के विमान जी8- 806 का किराया 16 हजार 101 रुपये तक हो गया। वहीं लखनऊ से मुंबई के लिए एयर इंडिया की उड़ान एआइ 626 का किराया 21 हजार 827 रुपये, इंडिगो की उड़ान संख्या 6 ई 769 का किराया 19 हजार 853 रुपये तक हो गया है।

 

Posted By: Anurag Gupta