लखनऊ (जेएनएन)। राजधानी के कृष्णानगर क्षेत्र में शनिवार को सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया। एक निजी कंपनी कर्मचारी नईम अहमद ने खुद को हिंदू बताकर महिला से प्रेम विवाह किया। जब असलियत खुली तो वह धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने लगा। महिला के विरोध पर उसे 13 साल तक बंधक टॉर्चर करता रहा। पीड़िता की तहरीर पर पुलिस ने आरोपित समेत चार लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। वहीं रविवार को एक अन्य महिला ने गाजीपुर थाने में तहरीर दी है। महिला का आरोप है कि नईम ने खुद को हिंदू बताकर उससे भी ब्याह रचाया था। नईम उसकी बेटी पर भी गलत नियत रखकर उसके साथ भी दुष्कर्म का प्रयास करता था।

पीड़िता ने बयां की दर्दनाक दास्‍तां
इंस्पेक्टर कृष्णानगर यशकांत सिंह के मुताबिक आलमबाग क्षेत्र निवासी एक महिला ने बताया कि साल 2004 में देहरादून राजपुर रोड स्थित डोभालवाला कॉलोनी निवासी नईम अहमद से मुलाकात हुई थी। नईम ने अपना नाम नमन बताया। उसने अपने फर्जी दस्तावेज दिखाए और बहला-फुसलाकर शादी कर ली। इसके बाद लखनऊ में एक किराए के मकान में रखा। कुछ महीनों बाद देहरादून स्थित घर ले गया।

पीड़िता ने बताया कि जहां, पता चला कि वह नमन नहीं नईम है। असलियत खुलने पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने लगा। इन्‍कान किया तो कमरे में बंद कर नईम उसके भाई नसीम, पिता बाबू खां और रिजवाना प्रताड़ित करने लगे। किसी तरह कुछ दिन पहले वहां से भागकर लखनऊ पहुंची और आलमबाग थाने में तहरीर दी।

आलमबाग पुलिस ने घटनास्थल कृष्णानगर का बताकर टरका दिया। इसके बाद लोकबंधु अस्पताल स्थित आशा ज्योति केंद्र में अधीक्षिका अर्चना सिंह से मिली। उन्होंने इसकी जानकारी कृष्णानगर पुलिस को दी। कृष्णानगर पहुंचकर शुक्रवार को नईम, उसके भाई नसीम, पिता बाबू खां के खिलाफ तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया।

नईम के कई महिलाओं से है संबंध, दिखाता था उनके अश्लील वीडियो
पीड़िता के मुताबिक नईम के कई महिलाओं से संबंध हैं। वह मोबाइल में महिलाओं के अश्लील वीडियो बनाकर दिखाता था। वह तीनों महिलाओं के बारे में बताता था कि यह उनकी पत्नियां हैं। लखनऊ आकर जब उन महिलाओं से संपर्क किया तो बताया कि बहला-फुसलाकर नईम ने उनसे भी शादी की है।

 बेटे का खतना न कराने पर बुरी तरह पीटा 
महिला ने बताया कि विवाह के एक साल बाद उसने बेटे को जन्म दिया। नईम और उसके परिवारीजन बेटे का खतना कराने का दबाव बनाने लगे। विरोध पर बुरी तरह से पीटा और कमरे में बंद कर दिया। वह किसी से मिलने भी नहीं देते थे। 

दोस्तों से संबंध बनाने का दबाव बनाता था 
पीड़ित महिला ने बताया कि टोकने के बाद भी नईम आए दिन अपने दोस्तों को घर पर बुलाता था। घर के अंदर वह दोस्तों के साथ संबंध बनाने का दबाव बनाता था। 

नईम के खिलाफ गाजीपुर में भी महिला ने दी तहरीर
नईम देहरादून राजपुर स्थित डोभालवाला कॉलोनी निवासी है। वहीं रविवार को नईम का एक अन्य मामला प्रकाश में आया। एक अन्य महिला ने उसके खिलाफ गाजीपुर थाने में तहरीर दी। महिला का आरोप है कि नईम ने धर्म छिपाकर उसके साथ भी विवाह किया था। उसकी एक बेटी है। नईम ने कई बार बेटी के साथ ही दुष्कर्म का प्रयास किया। विरोध पर वह जान से मारने की धमकी देता है। महिला के मुताबिक नईम के कई महिलाओं के साथ संबंध है। वह उन्हें अपने प्रेम जाल में फंसाकर उनसे विवाह करता है और फिर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाता है। इंस्पेक्टर गाजीपुर ने बताया कि महिला के आरोप पर मामले की जांच की जा रही है। उधर, कृष्णानगर इंस्पेक्टर का कहना है कि आरोपित की तलाश में दबिश दी जा रही है। जल्द ही पीडि़ता के न्यायायिक बयान दर्ज कराए जाएंगे।

Posted By: Anurag Gupta