लखनऊ[अंशू दीक्षित]। आने वाले कुछ महीनों में लखनऊ मेट्रो के स्टेशनों की सुरक्षा केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआइएसएफ) के कंधों पर होगी। सीआइएसएफ यात्रियों की व लगेज की तलाशी लेने के साथ ही परिसर में भी सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराएगा। इसको लेकर गृह मंत्रालय से आई एक टीम ने सभी स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था को लेकर सर्वे किया है। इससे साफ हो गया है कि चौधरी चरण सिंह मेट्रो स्टेशन से मुंशी पुलिया तक पडऩे वाले 21 मेट्रो स्टेशनों पर सुरक्षा का जिम्मा सीआइएसएफ को दिया जाएगा। 

मेट्रो स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था संभाल रहे सुरक्षा अधिकारियों की मानें तो आठ स्टेशनों पर 144 पीएसी कर्मी लगे हैं। वर्तमान में बढ़ती घटनाओं से सबक लेते हुए यह निर्णय किया जा रहा है। भविष्य में लखनऊ मेट्रो एयरपोर्ट से लिंक हो जाएगी, ऐसे में मेट्रो व मेट्रो स्टेशनों की सुरक्षा व्यवस्था और अहम हो जाएगी। अफसरों के मुताबिक हरी झंडी मिलते ही सीआइएसएफ जवानों के लिए रहने की व्यवस्था भी करनी होगी।

आधुनिक हथियारों से लैस होगी सीआइएसएफ

अत्याधुनिक हथियार होने के साथ ही संचार व्यवस्था से सीआइएसएफ के जवान लैस होंगे। यही नहीं सीआइएसएफ जवान जरूरत पडऩे पर प्लेटफार्म से लेकर मेट्रो तक सुरक्षा व्यवस्था मुहैया कराएंगे। वर्तमान में पीएसी आधुनिक हथियार से लैस नहीं है। 

महिला सीआइएसएफ कर्मी भी होंगी तैनात 

मेट्रो के प्रत्येक स्टेशन पर चार से छह महिला सीआइएसएफ कर्मी भी तैनात होंगी। यह महिला यात्रियों की तलाशी लेने के साथ ही जरूरत पडऩे पर हथियार भी चला सकेंगी। इनमें कमांडेंट, इंस्पेक्टर, उपनिरीक्षक व जवान होंगे। खासबात यह होगी कि ऑपरेशन कंट्रोल रूट में भी सीआइएसएफ अपने कर्मी राउंड द क्लाक तैनात करेगा, जिससे प्रत्येक स्टेशन पर सीसी कैमरे से नजर बना सके और कोई घटना होने पर तुरंत संबंधित स्टेशन पर तैनात सीआइएसएफ कर्मी को सूचित कर सके।

Posted By: Anurag Gupta