लखनऊ (जेएनएन)। राज्यपाल राम नाईक ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को उनके जन्मदिन की पूर्व संध्या पर बधाई दी है। उन्होंने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी के उत्तराधिकारी केरूप में उनकी उदात्त परंपराओं और राजनीतिक सूझ-बूझ से विश्व में भारत की मोदी ने अब तक की सबसे बेहतरीन छवि प्रस्तुत की है। प्रधानमंत्री के रूप में उनकी अगुआई में हुए जनहित के कार्य खुद में बेमिसाल हैं। राज्यपाल ने प्रधानमंत्री के दीर्घायु एवं यशस्वी जीवन की कामना भी की। इससे इतर सोमवार को मोदी के जन्म दिन के मौके पर बड़ी संख्या में बंदियों को रिहा किया जा रहा है।

जन्मदिन पर चार बंदियों की रिहाई

मोदी के जन्मदिन पर सोमवार को वाराणसी जिला जेल में बंद चार बंदियों को रिहा किया जाएगा। बंदी बेहद गरीब परिवार से हैं। इन सभी की जमानत राशि भारत विकास परिषद वरुणा सेवा संस्थान के अध्यक्ष की ओर से जमा की जाएगी। जेलर पवन त्रिवेदी ने बताया कि पीएम के जन्मदिन पर बंदियों की रिहाई की योजना बनाई गई थी, मगर जमानत राशि जमा करने को मददगार सामने नहीं आ रहे थे। प्रयास के बाद भारत विकास परिषद वरुणा सेवा संस्थान के अध्यक्ष रमेश लालवानी चारों बंदियों की जमानत राशि जमा करने को आगे आए। डिप्टी जेलर आलोक सिंह के मुताबिक रिहा होने वाले बंदियों में बड़की समईला पचाड़ी, थाना रमामा, दरभंगा, बिहार निवासी सिंटू मंडल भी शामिल है। ये सभी सोमवार को रिहा हो जाएंगे। 

लखनऊ जेल से तीन बंदी रिहा होंगे

मोदी के जन्मदिन पर लखनऊ जिला जेल में बंद तीन बंदियों को रिहाई का तोहफा मिलेगा। अपने जुर्म की सजा काट चुके ये बंदी जुर्माने का भुगतान न कर पाने के कारण बंद थे। जेल अधीक्षक पीएन पांडेय ने बताया कि रिहा होने वाले बंदियों में संतकबीर नगर के प्रसादपुर, दुधारा निवासी तौफीक पुत्र अजीउल्लाह, हरदोई अतरौली के अइमा गांव का रमेश उर्फ छुटक्के और लखनऊ के पारा निवासी तन्नु शुक्ला हैं। तौफीक 29 अगस्त, 2014 को विकासनगर थाने से चोरी के मामले में बंद हुआ था। कोर्ट ने उस पर तीन हजार रुपये जुर्माना लगाया गया था। रमेश चोरी के मामले में गोमतीनगर थाने से 20 दिसंबर, 2017 को बंद हुआ था। उस पर 1500 रुपये का जुर्माना लगा था, जबकि रमेश 16 मई, 2018 को बंद हुआ था। उस पर 500 रुपये जुर्माना कोर्ट ने लगाया गया था। प्रधानमंत्री के जन्मदिन पर सोमवार को शासन के निर्देश पर सारी औपचारिकताएं पूरी होने के बाद तीनों को छोड़ा जाएगा। एक संस्था द्वारा जुर्माने की राशि दी जाएगी।

मथुरा में दो कैदियों को मिलेगी आजादी

मोदी के जन्मदिन पर मथुरा से दो कैदियों को मथुरा जेल से आजादी दी जाएगी। पंडित दीनदयाल उपाध्याय के 25 सितंबर को जन्मदिवस पर कुछ कैदियों की रिहाई की जा सकती है। जेल अधीक्षक शैलेंद्र कुमार मैत्रेय ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर दो कैदियों को रिहा किया जाएगा। पंडित दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिन पर 25 सितंबर को तीन कैदियों को रिहा करने की तैयारी पूरी है। इनकी संख्या बढ़कर सात भी हो सकती है। गांधी जयंती दो अक्टूबर के लिए अभी कोई निर्देश प्राप्त नहीं हुआ है।  

 

Posted By: Nawal Mishra